कैलिफोर्निया में नस्लवाद: सिख को दी गई गाली, एक साल बाद भी कार्रवाई नहीं

इन घटनाओं की शुरुआत साल 2021 में हुई थी, जब एक महिला ने क्लेयर के हिंदू होने पर गाली दी। महिला ने उन्हें अपनी कार से कुचलने की धमकी भी दी थी। 66 वर्षीय क्लेयर ने इसकी जानकारी तुरंत सटर काउंटी शेरिफ के ऑफिस (SCSO) को दी थी। लेकिन महीनों बाद भी इस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है।

कैलिफोर्निया में नस्लवाद: सिख को दी गई गाली, एक साल बाद भी कार्रवाई नहीं

पहली पीढ़ी के सिख अमेरिकी पिता के तौर पर रूबल पॉल क्लेयर के लिए कैलिफोर्निया का सटर दशकों से घर की तरह है। उनका परिवार साल 1973 से इस इलाके में रह रहा है। अमेरिका में इतने लंबे समय से किसी स्थान पर रहने के बाद अधिकांश प्रवासियों को देश प्राकृतिक रूप से घर जैसा लगने लगता है। लेकिन क्लेयर और उनके परिवार को तब झटका लगा जब अपने ही पड़ोस में उन्हें नस्लवाद का सामना करना पड़ा।

महिला ने क्लेयर के घर के बाहर उनके ड्राइव-वे में अभद्र बातें लिख दी थीं। Photo: Sikh coalition

इन घटनाओं की शुरुआत वर्ष 2021 में हुई थी, जब एक महिला ने क्लेयर के हिंदू होने पर गाली दी थी और उनकी त्वचा के रंग को लेकर अभद्र टिप्पणी की थी। महिला ने उन्हें अपनी कार से कुचलने की धमकी भी दी थी। इसके बाद इसी महिला को जानने वाली एक दूसरी महिला ने क्लेयर के घर के बाहर उनके ड्राइव-वे में अभद्र बातें लिख दी थीं।

66 वर्षीय क्लेयर ने इसकी जानकारी तुरंत सटर काउंटी शेरिफ के ऑफिस (SCSO) को दी थी। लेकिन महीनों बाद भी इस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है। अब उन्होंने एक सामाजिक संगठन सिख कोएलिशन से संपर्क किया है जो नस्लवाद के पीड़ितों को मुफ्त में कानूनी मदद उपलब्ध कराता है।

क्लेयर ने कहा कि मुझे इन सब बातों का सामना करना पड़ा और एक साल के बाद भी किसी को इसके लिए जिम्मेदार नहीं ठहराया जा सका है। मुझे लगता है कि यह हमारी न्याय व्यवस्था की विफलता है। सिख कोएलिशन अब इस मामले में आपराधिक आरोप लगाने के लिए सटर काउंटी डिस्ट्रिक्ट अटॉर्नी ऑफिस (SCDAO) से अनुरोध कर रहा है। क्लेयर ने एससीएसओ के अधिकारियों और उन्हें धमकी देने वाले एक व्यक्ति के खिलाफ दीवानी मुकदमा दायर किया है।