लग रही अटकलें, क्या ब्रिटेन का अगला पीएम भारतीय मूल का कोई शख्स होगा?

रेडफील्ड एंड विल्टन स्ट्रेटजी के मुताबिक 35 फीसदी कंजरवेटिव वोटर जॉनसन को हटाने के पक्ष में हैं। इसके अलावा 25% अन्य में भी इसका सपोर्ट किया है। 20% ने कोई जवाब नहीं दिया। कुछ इसी तरह के रिसर्च और फीडबैक से ये बात सामने आई है कि ऋषि सुनक अभी रेस में बने हुए हैं।

लग रही अटकलें, क्या ब्रिटेन का अगला पीएम भारतीय मूल का कोई शख्स होगा?

साल 2012 में ब्रिटेन के पूर्व प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने कहा था कि कंजरवेटिव पार्टी ऐसी पहली पार्टी होगी जिससे भारतीय मूल का ही कोई प्रधानमंत्री बनेगा। क्या डेविड कैमरन की कही हुई ये बातें सच होने जा रही है? अगर ब्रिटेन के वर्तमान पीएम बोरिस जॉनसन की लोकप्रियता की बात करें तो यह लगातार घटती जा रही है। ऐसी परिस्थिति में उनके उत्तराधिकारी को लेकर चर्चा हो रही है। भारतीय मूल के सांसद और वित्त मंत्री ऋषि सुनक को उत्तराधिकारियों में से एक माना जा रहा है। वह अभी रेस में बने हुए हैं।

करीब दो साल पहले ही ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन ने उत्तर की सीटों पर लेबर की मजबूत दीवार ढहाकर 1987 में मार्गरेट थैचर के बाद पहली बार कंजरवेटिव पार्टी को सबसे बड़े बहुमत के साथ जीत दिलाई थी। लेकिन अब हालात बदल गए हैं। इसी हफ्ते इस पार्टी ने उपचुनाव में अपना गढ़ रहे नॉर्थ श्रॉपशायर सीट लिबरल डेमोक्रेट्स के हाथों लगभग 200 साल बाद गंवा दी है। इसके साथ ही बोरिस जॉनसन के भविष्य को लेकर अटकलें लगनी शुरू हो गईं। हाल ही में डाउनिंग स्ट्रीट में पार्टी को लेकर के लेकर वह आलोचकों के निशाने पर रहे। साथ ही पार्टी के सांसदों ने भी उनके खिलाफ मोर्चा खोला हुआ है।