ऋषि सुनक की ​पत्नी के Non-Dom के दर्जे पर विवाद जारी

सनक की ​पत्नी के इंफोसिस में 1% से थोड़ा कम शेयर हैं। इन शेयरों का अनुमानित मूल्य पिछले महीने 500 मिलियन यूरो यानी 5 हजार करोड़ रुपये से अधिक थी। दूसरी ओर लेबर लीडर सर कीर स्टारर ने कहा कि विवाद को लेकर सनक ही पूर्ण पारदर्शिता के साथ स्पष्ट करने का काम करें।

ऋषि सुनक की ​पत्नी के Non-Dom के दर्जे पर विवाद जारी

रूस में इंफोसिस के बंद होने के बाद फैशन डिजाइनर और यूके राजकोष के चांसलर ऋषि सुनक की पत्नी अक्षता मूर्ति जांच के दायरे में आ गई हैं। करोड़पति अक्षता मूर्ति को नाेन-डोम (Non-Dom) का दर्जा प्राप्त है जो यूके के बाहर की कमाई पर उसे टैक्स से छूट देता है।

अक्षता मूर्ति की प्रवक्ता ने यह दावा किया है कि भारत अपने नागरिकों को एक साथ दूसरे देश की नागरिकता रखने की अनुमति नहीं देता है और अक्षता यूके में सभी कानूनी रूप से आवश्यक कर का भुगतान कर रही हैं। इसके अलावा उन्होंने कोई नियम नहीं तोड़ा है। सांसदों और साथियों को गैर-डोम होने से प्रतिबंधित कर दिया गया है लेकिन पति-पत्नी इस तरह के किसी भी प्रतिबंध के अधीन नहीं हैं। साल 2015 में टोरी सरकार द्वारा किए गए संशोधनों के अनुसार गैर-डोम स्थिति का उद्देश्य विदेशों से उन लोगों का समर्थन करना है जो यूके आते हैं लेकिन स्थायी रूप से यहां रहने का इरादा नहीं रखते हैं।

लेबर लीडर सर कीर स्टारर ने कहा कि विवाद को लेकर सनक ही पूर्ण पारदर्शिता के साथ स्पष्ट करने का काम करें। 

दूसरी ओर लेबर लीडर सर कीर स्टारर ने कहा कि विवाद को लेकर सनक ही पूर्ण पारदर्शिता के साथ स्पष्ट करने का काम करें। उन्होंने कहा कि अगर यह सामने आता है कि उनकी पत्नी ने अपने कर को कम करने के लिए योजनाओं का इस्तेमाल किया है और वो भी तब जब कामकाजी लोगों पर कर बढ़ाया जा रहा है तो मैं मानता हूं कि यह आम लोगों के साथ धोखेबाजी होगी।

रेडफील्ड और विल्टन स्ट्रैटेजीज की 3 अप्रैल की रिपोर्ट के अनुसार ऋषि सुनक की पोल रेटिंग गिर रही है। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने स्थिति पर टिप्पणी करने का विरोध करते हुए कहा कि मुझे लगता है कि ​​​​हमें राजनीतिक चर्चा से पत्नियों और परिवारों को दूर रखना चाहिए।

जानकारी के लिए बता दें कि एक गैर-डोम यूके निवासी को अपने स्थायी घर का पता या उस देश का अधिवास घोषित करना होता है जिसकी वे नागरिकता रखते हैं। मूर्ति ने अपने पिता नारायण मूर्ति के माध्यम से भारत को चुना हुआ है और उनके पिता भारत की बहुराष्ट्रीय प्रौद्योगिकी कंपनी इंफोसिस के संस्थापकों में से एक हैं। इस स्थिति ने उन्हें अब तक यूके में अपने पिता की कंपनी में अपनी हिस्सेदारी से प्राप्त लाभांश पर कर का भुगतान करने से बचने की अनुमति दी है जो कि इंफोसिस के शेयरों के 1% से थोड़ा कम है। इन शेयरों का अनुमानित मूल्य पिछले महीने 500 मिलियन यूरो यानी 5 हजार करोड़ रुपये से अधिक था।

साल 2009 में अक्षता ने ऋषि सुनक से शादी की थी। साल 2015 में नॉर्थ यॉर्कशायर के रिचमंड से वह पहली बार सांसद बने। सुनक और मूर्ति की दो बेटियां हैं और उनका डाउनिंग स्ट्रीट में एक फ्लैट है। इसके अलावा उनकी यूके में 1.5 मिलियन ब्रिटिश पाउंड यानी 15 करोड़ रुपये की कई संपत्तियां हैं।