अमेरिका के विकास में सिख भी हैं शामिल, इसलिए उन्होंने सरकार से मांगा यह 'तोहफा'

14 अप्रैल को राष्ट्रीय सिख दिवस घोषित करने की मांग इसलिए की जा रही है क्योंकि इसी दिन सिख समुदाय बैसाखी त्योहार का जश्न मनाता है। इसके साथ ही इसी दिन सिख धर्म के 10वें गुरु गोबिंद सिंह ने साल 1699 में खालसा की स्थापना की थी। इस आशय का प्रस्ताव प्रतिनिधि सभा में पेश किया गया है।

अमेरिका के विकास में सिख भी हैं शामिल, इसलिए उन्होंने सरकार से मांगा यह 'तोहफा'

भारतीय मूल के सांसद राजा कृष्णमूर्ति समेत 12 से अधिक सांसदों ने अमेरिका की प्रतिनिधि सभा में एक प्रस्ताव पेश किया है। इस प्रस्ताव में 14 अप्रैल को 'राष्ट्रीय सिख दिवस' (National Sikh Day) घोषित करने की मांग की गई है।

यह दुनिया का पांचवां सबसे बड़ा धर्म है जिसके लगभग तीन करोड़ अनुयायी हैं। इनमें से लगभग 10 लाख सिख अमेरिका में निवास करते हैं। Photo by Sarbjit Singh / Unsplash

सांसदों ने इसमें अमेरिका के विकास में सिख समुदाय के योगदान का उल्लेख करते हुए देश को सशक्त बनाने और अमेरिकी नागरिकों को प्रेरित करने में समुदाय की अहम भूमिका के प्रति सम्मान प्रदर्शित करने के रूप में इसका समर्थन किया है।