मार्च माह के अंत से अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को नियमित करना चाहता है भारत!

उड्डयन मंत्रालय ने पहले 15 दिसंबर 2021 से नियमित अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को फिर से शुरू करने की योजना की घोषणा की थी। लेकिन ओमिक्रॉन के बढ़ते मामलों के कारण उस आदेश को रद्द कर दिया गया।

मार्च माह के अंत से अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को नियमित करना चाहता है भारत!
Photo by Daniel Eledut / Unsplash

कोरोना महामारी के चलते भारत में लगातार 23 महीने तक प्रतिबंधित नियमित अंतरराष्ट्रीय उड़ानें मार्च के अंत या अप्रैल के पहले सप्ताह से फिर से शुरू हो सकती हैं। भारत में घरेलू उड़ानों का स्तर पूर्व कोविड उड़ानों का 80 फीसदी पहुंच चुका है। वहीं कोरोना के मामलों में तेजी से गिरावट के चलते भारत सरकार इस मसले पर जल्द फैसला करेगी कि गर्मियों के शेड्यूल में नियमित अंतरराष्ट्रीय यात्रा को खोला जाए या नहीं।

भारतीय मीडिया रिपोर्ट के अनुसार भारत सरकार के उड्डयन मंत्रालय ने अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को फिर से शुरू करने का आं​तरिक लक्ष्य निर्धारित किया है। चूंकि डोमेस्टिक फ्लाइट्स तेजी से सामान्य हो रही हैं, ऐसे में अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को भी मार्च के अंत तक या फिर अप्रैल की शुरुआत में सामान्य किया जाएगा ताकि जल्द प्री कोविड यानी महामारी से पहले के स्तर पर पहुंचा जा सके। भारत में मौजूद डोमेस्टिक एयलाइंस कंपनियों ने महामारी से पहले 2,800 से अधिक उड़ानें संचालित कीं थीं। वहीं रविवार यानी 13 फरवरी को डोमेस्टिक एयरलाइंस ने 2,058 उड़ानें संचालित कीं। यह पूर्व कोविड स्तर का 80 फीसद है। सरकार का मानना है कि यह संख्या 2,200 से अधिक जानी चाहिए।