इजरायल के रक्षामंत्री खास उद्देश्य से आए हैं भारत, पीएम मोदी से भी मिलेंगे

दोनों देशों के बीच तीन दशकों के राजनयिक संबंधों को चिह्नित करते हुए इजरायल के मंत्री गैंट्ज कल भारत पहुंचे। भारत के लिए उड़ान भरने से पहले गैंट्ज ने ट्वीट किया था कि मैं वर्तमान में भारत की यात्रा के लिए उड़ान भर रहा हूं, जो इजराइल और भारत के बीच 30 साल के राजनयिक रक्षा संबंधों को चिह्नित करता है।

इजरायल के रक्षामंत्री खास उद्देश्य से आए हैं भारत, पीएम मोदी से भी मिलेंगे

भारत के रक्षामंत्री राजनाथ सिंह और उनके इजरायली समकक्ष बेनी गैंट्ज ने आज नई दिल्ली में द्विपक्षीय बैठक की। भारत पहुंचे गैंट्ज को राजनाथ सिंह की उपस्थिति में गार्ड ऑफ ऑनर से सम्मानित किया गया। गैंट्ज ने नई दिल्ली में राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर माल्यार्पण किया।

भारत पहुंचे गैंट्ज को राजनाथ सिंह की उपस्थिति में गार्ड ऑफ ऑनर से सम्मानित किया गया। सभी फोटो: राजीव भट्ट

बेनी गैंट्ज ने ​ट्वीट किया कि मैं विनम्र हूं कि मैंने अपनी भारत की यात्रा को राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर शहीद सैनिकों का सम्मान करने के बाद शुरू किया। इससे मुझे भारत की विरासत के बारे में जानने का मौका मिला। यह एक प्रतीकात्मक श्रद्धांजलि है। भारत और इजरायल के बीच 30 सालों से संबंधों को समृद्ध बना रहे हैं और रक्षा क्षेत्र में संबंध बनाए हुए हैं।

दोनों देशों के बीच तीन दशकों के राजनयिक संबंधों को चिह्नित करते हुए इजरायल के मंत्री गैंट्ज कल भारत पहुंचे थे। यह दौरा मार्च में होना था लेकिन रद्द कर दिया गया। भारत के लिए उड़ान भरने से पहले गैंट्ज ने ट्वीट किया था कि मैं वर्तमान में भारत की यात्रा के लिए उड़ान भर रहा हूं, जो इजराइल और भारत के बीच 30 साल के राजनयिक रक्षा संबंधों को चिह्नित करता है। यात्रा के दौरान मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रक्षामंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात करूंगा। सिंह हमारे सहयोग के विस्तार पर चर्चा करेंगे।

बता दें कि इससे पहले मार्च में इजराइल के रक्षामंत्री ने राजनाथ सिंह के साथ एक कॉल के दौरान उन्हें सूचित किया था कि 30-31 मार्च तक उनकी प्रस्तावित भारत यात्रा कुछ अपरिहार्य कारणों से स्थगित कर दी गई थी। इजरायल के स्थानीय मीडिया के अनुसार मार्च में होने वाली बैठक में भारत और इजरायल के बीच सुरक्षा संबंधों में सुधार पर बातचीत होनी थी।

रिपोर्ट में कहा गया है कि तेल अवीव ने हाल के वर्षों में विशेष रूप से वायु और मिसाइल रक्षा के क्षेत्र में नई दिल्ली के साथ रक्षा संबंधों को बढ़ाने की मांग की है। वर्ष 2022 भारत और इजराइल के बीच राजनयिक संबंधों के 30 साल पूरे होने का प्रतीक है। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने 17-21 अक्टूबर 2021 तक इजराइल की आधिकारिक यात्रा की थी। इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2 नवंबर 2021 को ग्लासगो में COP26 जलवायु शिखर सम्मेलन के मौके पर इजरायल के प्रधानमंत्री नफ्ताली बेनेट से भी मुलाकात की। वहीं रक्षा पर वार्षिक भारत-इजराइल संयुक्त कार्य समूह (JWG) 26-27 अक्टूबर 2021 को इजराइल में आयोजित किया गया था।