'रेडियो' ने यूक्रेन से रेस्क्यू किए 44 भारतीय छात्र, 'अंकल जी' के शुक्रगुजार हुए ये युवा

एक छात्र ने राजस्थानी भाषा में प्रेम भंडारी को वॉयस नोट भेजकर शुक्रिया करते हुए बताया कि अंकल जी म्हारी फ्लाइट हो गई है। 9 बजे के बाद म्हारी फ्लाइट है। बैंग्लोर जानो ऐ।

'रेडियो' ने यूक्रेन से रेस्क्यू किए 44 भारतीय छात्र, 'अंकल जी' के शुक्रगुजार हुए ये युवा

रूस के ताबड़तोड़ हमलों के बीच यूक्रेन में फंसे 44 भारतीय छात्रों को बीते दिनों भारतीय प्रवासियों के हितों में काम करने वाले संगठन REDIO ने रेस्क्यू किया है। REDIO की मदद से ये भारतीय छात्र कल देर रात बुडापेस्ट पहुंचे और अब भारत के लिए रवाना हो चुके हैं।

सु​रक्षित बाहर निकाले गए इंदौर के रहने वाले आशुतोष ने प्रेम भंडारी को प्रेम अंकल कहते हुए उनका शुक्रिया किया और कहा कि उन्होंने हमारी बहुत मदद की है। यूक्रेन में यदि किसी छात्र को मदद चाहिए तो वह उनसे संपर्क कर सकते हैं। आशुतोष ने वीडियो के माध्यम से प्रेम भंडारी का वॉट्सऐप नंबर भी शेयर किया। दूसरी ओर विजय नाम के एक छात्र ने राजस्थानी भाषा में प्रेम भंडारी को वॉयस नोट भेजकर शुक्रिया करते हुए बताया कि अंकल जी म्हारी फ्लाइट हो गई है। 9 बजे के बाद म्हारी फ्लाइट है। बैंग्लोर जानो ऐ।