राम मंदिर की भव्यता बढ़ाएंगे राजस्थान और यूपी के पत्थर

राम मंदिर के निर्माण में मुख्य रूप से राजस्थान के पत्थरों और मार्बल का इस्तेमाल किया जाएगा। इनमें से कुछ पत्थर गुलाबी रंग के होंगे, जो मंदिर की भव्यता को बढ़ाएंगे। मंदिर निर्माण में करीब 4 लाख घन फीट पत्थरों का इस्तेमाल किया जाएगा। इसके अलावा मंदिर का परकोट जोधपुर के विशेष पत्थरों से बनाया जाना है।

राम मंदिर की भव्यता बढ़ाएंगे राजस्थान और यूपी के पत्थर

भारत की नगरी अयोध्या में हिंदुओं के आराध्य श्रीराम के भव्य मंदिर का निर्माण कार्य तेजी से आगे बढ़ रहा है। उम्मीद है कि अगले दो सालों में भक्तों को मंदिर में दर्शन का सौभाग्य प्राप्त हो जाएगा। दुनियाभर के करोड़ों लोगों की आस्था से जुड़ा यह मंदिर विश्व में सबसे अनोखा राम मंदिर होगा। सालों के लंबे मंथन के बाद इसकी डिजाइन तय हुई और इसे भव्य बनाने के लिए हजारों लोग काम कर रहे हैं। आज आपको बताने जा रहे हैं कि राम मंदिर की भव्यता में चार चांद लगाने वाले पत्थर और मार्बल देश के किस हिस्से से लाए जा रहे हैं।

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट पहले ही यह साफ कर चुका है कि मंदिर निर्माण में स्टील का बिलकुल भी इस्तेमाल नहीं किया जाएगा। मंदिर को मुख्य रूप से पत्थर और मार्बल से तैयार किया जाएगा। यहां तक कि मंदिर की नींव कंक्रीट से तैयार की जा रही है, जो अगले 1000 सालों तक पत्थरों का भार सहने में सक्षम रहेगी। श्रीराम मंदिर को इस हिसाब से तैयार किया जा रहा है कि यह सदियों तक इसी तरह भव्य और मजबूत बना रहे।