दुनिया के शीर्ष '50 Next' गैस्ट्रोनॉमी गेमचेंजर्स की लिस्ट में चार भारतीय भी

इस लिस्ट में भारत की राजधानी दिल्ली की रहने वाली फॉरेंसिक वैज्ञानिक डॉ. रिशा जैस्मिन नैथन, बेंगलुरु के रहने वाले विनेश जॉनी व अनुषा मूर्ति और मुंबई की निवासी निधि पंत का नाम शामिल किया गया है। छह महाद्वीपों के 30 क्षेत्रों में 400 से अधिक लोग इस सूची में स्थान पाने के लिए उम्मीदवार थे।

दुनिया के शीर्ष '50 Next' गैस्ट्रोनॉमी गेमचेंजर्स की लिस्ट में चार भारतीय भी
Photo by Aarón Blanco Tejedor / Unsplash

वैश्विक खाद्य और पेय पदार्थ उद्योग में स्थाई समाधान तलाशने वाले (Gastronomy Gamechangers) दुनिया के शीर्ष 50 अगली पीढ़ी के लोगों की एक प्रतिष्ठित सूची में चार भारतीय युवाओं के नाम भी शामिल किए गए हैं। स्पेन के बिलबाओ शहर में हुए इस पुरस्कार समारोह का पहली बार सीधा प्रसारण किया गया था। यहां '50 Next: Class of 2022' की सूची जारी की गई थी।

डॉ. रिशा जैस्मिन नैथन

यह कार्यक्रम पिछले दिनों आयोजित किया गया था। इस लिस्ट में भारत की राजधानी दिल्ली की रहने वाली फॉरेंसिक वैज्ञानिक डॉ. रिशा जैस्मिन नैथन, बेंगलुरु के रहने वाले विनेश जॉनी व अनुषा मूर्ति और मुंबई की निवासी निधि पंत का नाम शामिल किया गया है। इसके अलावा सिंगापुर में जन्मे भारतीय मूल के खाद्य उद्यमी त्रविंदर सिंह को भी इस प्रतिष्ठित सूची में अपने खाद्य स्टार्टअप आइडिया के लिए जगह मिली है।

विनेश जॉनी Photo: Instagram

छह महाद्वीपों के 30 क्षेत्रों में 400 से अधिक लोग इस सूची में स्थान पाने के लिए उम्मीदवार थे। यह सूची 50 नेक्स्ट ग्रुप और इसके अकादमिक भागीदार बास्क कलिनरी सेंटर (BCC) की ओर से किए गए रिसर्च पर आधारित है। उल्लेखनीय है कि इस ग्रुप का मुख्यालय बास्क देश के सैन सेबेस्टियन में स्थित है जो उत्तरी स्पेन का एक स्वायत्त इलाका है।

बीसीसी के महाप्रबंधक जोक्स मारी आइजेगा ने कहा कि 50 नेक्स्ट विभिन्न प्रकार की शख्सियतों को प्रदर्शित करती है, जो पाक कला क्षेत्र के वर्तमान और भविष्य को आकार देने का काम कर रहे हैं। बता दें कि 50 नेक्स्ट सूची दूसरी बार जारी की गई है। पिछले साल कोरोना वायरस महामारी के चलते लगे लॉकडाउन के चलते कार्यक्रम का सीधा प्रसारण नहीं किया गया था।

रिशा जैस्मिन नैथन ने अपनी रिसर्च साल 2020 में न्यूजीलैंड से पूरी की थी। उनका शोध भोजन और सब्जियों के छिलकों का इस्तेमाल कर उन्हें बीड्स में बदलने को लेकर था, जो पेयजल में से भारी धातुएं अलग कर सकता है। 'Science Innovators' श्रेणी में जगह पाने वाली रिशा का लक्ष्य विष विज्ञान (Science of Toxicology) का उपयोग एक सुरक्षित व स्वस्थ विश्व बनाने का है।

बेंगलुरु में स्थित लेवोन एकेडमी ऑफ बेकिंग साइंस एंड पेस्ट्री आर्ट्स के संस्थापक शेफ विनेश जॉनी को 'Empowering Educators' श्रेणी में जगह मिली है। यह भारत का पहला स्पेशलाइज्ड इंटरनेशनल बेकिंग स्कूल है। जॉनी ने करीब 10 साल पहले इसकी स्थापना की थी। वह कहते हैं कि हम मुख्य रूप से यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि भारतीय छात्रों को विश्व स्तरीय पेस्ट्री एजुकेशन मिल सके।

जॉनी के साथ इसी श्रेणी में जगह बनाने वाली अनुषा मूर्ति ने एक फूड कलेक्टिव एडिबल इश्यूज (Edible Issues) की शुरुआत की थी। यह सामुदायिक सहभागिता और वर्कशॉप के जरिए भारतीय भोजन व्यवस्था के बारे में बातचीत को बढ़ावा देने का काम करता है। इसके अलावा स्वस्थ भोजन शैली को बढ़ावा देने के लिए अनुषा मूर्ति खाना पकाने वाले एक रोबोट का निर्माण भी कर रही हैं।

इस लिस्ट की Trailblazing Activists श्रेणी में जगह पाने वाली निधि पंत S4S (साइंस फॉर सोसायटी) Technologies की संस्थापक हैं जिसने एक सौर ऊर्जा से संचालित फूड डिहाइड्रेटर बनाया है जो पीड़ित समुदायों को भुखमरी से उबारने में और किसानों को उनकी उपज को संरक्षित करने में सहायता करता है। निधि पंत की टेक्नोलॉजी मुख्य रूप से महिलाओं के लिए केंद्रित है।

क्रस्ट ग्रुप (Crust Group) संस्थापक भारतीय मूल के त्रविंदर सिंह को 50 नेक्स्ट की Entrepreneurial Creatives श्रेणी में शामिल किया गया है। उन्हें यह सम्मान फलों और सब्जियों के कूड़े से आर्टिसन बीयर और नॉन एल्कोहॉलिक पेय पदार्थों जैसे उत्पाद बनाने के कांसेप्ट के लिए दिया गया है। उनका स्टार्टअप सिंगापुर से जापान और ताइवान तक पहुंच चुका है और भारत आने की उम्मीद है।