गांधी के दर्शन को समझेंगे यूरोपीय प्रवासी, शुरू होगा स्पेशल ऑनलाइन कोर्स

इस कोर्स के माध्यम से प्रवासी भारतीय महात्मा गांधी के जीवन के उन पहलुओं को जानेंगे, जो वर्तमान समय में प्रासंगिक हैं।

गांधी के दर्शन को समझेंगे यूरोपीय प्रवासी, शुरू होगा स्पेशल ऑनलाइन कोर्स
Photo by Mick Haupt / Unsplash

भारतीय प्रवासी और अंतर्राष्ट्रीय प्रतिभागियों के लिए महात्मा गांधी के दर्शन को बेहतर तरीके से जानने का सुनहरा मौका है। अगले महीने से तमाम यूरोपीय देशों में गांधी के दर्शन पर आधारित चार दिवसीय ऑनलाइन सर्टिफिकेट कोर्स अगले महीने से शुरू होगा। इस कोर्स का उद्देश्य शांति और अहिंसा के गांधीवादी दृष्टिकोण को बढ़ावा देना है।

Macro Gandhi
ऑनलाइन पाठ्यक्रम चार सप्ताह (सप्ताह में एक बार यानी प्रत्येक शनिवार को एक वर्चुअल प्लेटफॉर्म पर 60-90 मिनट) का होगा। Photo by Pratik Chauhan / Unsplash

यह कार्यक्रम भारत की 75वीं स्वतंत्रता वर्षगांठ समारोह का हिस्सा है, जो भारतीय दूतावास और इंडियन काउंसिल फॉर कल्चरल रिलेशंस (ICCR) के सहयोग से आयोजित जाएगा। भारतीय दूतावास द्वारा आयोजित महात्मा गांधी के दर्शन (सत्य और अहिंसा की वैश्विक खोज) पर ऑनलाइन सर्टिफिकेट कोर्स हंगरी, माल्टा, नॉर्वे, पोलैंड, सर्बिया, स्वीडन, स्लोवाक गणराज्य, स्विट्जरलैंड, बुल्गारिया, फिनलैंड, ग्रीस और रोमानिया में आयोजित किया जाना निर्धारित है।