टिप्पणी पर विवाद: OIC और पाक को आड़े हाथ लेते हुए भारत ने यह कहा

भारत के विदेश मंत्रालय ने कहा कि सरकार सभी धर्मों को सर्वोच्च सम्मान देती है। यह पाकिस्तान के बिल्कुल विपरीत है, जहां कट्टरपंथियों की प्रशंसा की जाती है और उनके सम्मान में स्मारक बनाए जाते हैं। भारत ने इस मुद्दे पर OIC की टिप्पणी को अनुचित और संकीर्ण सोच वाली टिप्पणियों कहा है।

टिप्पणी पर विवाद: OIC और  पाक को आड़े हाथ लेते हुए भारत ने यह कहा

पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ भारत के सत्तारूढ़ दल भारतीय जनता पार्टी के दो पदाधिकारियों द्वारा की गई टिप्पणी के खिलाफ मीडिल ईस्ट के देशों के अलावा पाकिस्तान ने भी निंदा की है। इस विवाद पर आज भारत ने पलटवार किया है। पाकिस्तान के पीएम शहबाज शरीफ और राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने निंदा करते हुए कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारत धार्मिक स्वतंत्रता को कुचल रहा है और मुसलमानों को सता रहा है।

वहीं भारत के विदेश मंत्रालय की ओर से प्रतिक्रिया आई है, जिसमें भारत ने कहा कि हमने पाकिस्तान के बयानों और टिप्पणियों को नोट किया है। अपने ही देश में अल्पसंख्यकों के अधिकारों को कुचलने वाले दूसरे देश में अल्पसंख्यकों की दशा पर टिप्पणी कर रहे हैं। दुनिया ने पाकिस्तान में हिंदू, सिख, ईसाई और अहमदिया समेत अल्पसंख्यकों का उत्पीड़न देखा है।

भारत के विदेश मंत्रालय के आधिकारिक प्रवक्ता अरिंदम बागची ने आगे कहा कि सरकार सभी धर्मों को सर्वोच्च सम्मान देती है। यह पाकिस्तान के बिल्कुल विपरीत है, जहां कट्टरपंथियों की प्रशंसा की जाती है और उनके सम्मान में स्मारक बनाए जाते हैं। हम पाकिस्तान से अपने देश में अल्पसंख्यक समुदायों की सुरक्षा और कल्याण पर ध्यान केंद्रित करने का आह्वान करते हैं जो असल में इसकी बजाय भारत में माहौल खराब करने और सांप्रदायिक असामंजस्य फैलाने का प्रयास कर रहा है।

ऐसे ही भारत ने सोमवार को इस्लामिक सहयोग संगठन (OIC) पर भी निशाना साधा है। भारत ने इस मुद्दे पर OIC की टिप्पणी को अनुचित और संकीर्ण सोच वाली टिप्पणियों कहा है। बागची ने कहा कि एक धार्मिक व्यक्तित्व को बदनाम करने वाले आपत्तिजनक ट्वीट और टिप्पणियां कुछ व्यक्तियों द्वारा की गई थीं। वे किसी भी तरह से भारत सरकार के विचारों को नहीं दर्शाती हैं। उन्होंने बताया कि संबंधित निकायों द्वारा इन व्यक्तियों के खिलाफ पहले ही कड़ी कार्रवाई की जा चुकी है।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि सोमवार को सऊदी अरब, बहरीन और अफगानिस्तान भी उन देशों में शामिल हो गए, जिन्होंने भाजपा नेताओं की विवादास्पद टिप्पणी की निंदा की है। एक बयान में सऊदी अरब के विदेश मंत्रालय ने भाजपा प्रवक्ता द्वारा दिए गए बयानों की निंदा करते हुए कहा है कि इन्होंने पैगंबर मोहम्मद का अपमान किया है। ताजा जानकारी यह भी मिल रही है कि कुवैत में कुवैती सुपरमार्केट ने भारतीय उत्पादों को बाहर निकाल दिया। अल-अर्दिया को-ऑपरेटिव सोसाइटी स्टोर के कार्यकर्ताओं ने इस्लामोफोबिक के रूप में निंदा करते हुए विरोध में भारतीय चाय और अन्य उत्पादों का बहिष्कार किया।