इस नामी वैज्ञानिक को लगता है कि भारत में कोविड बूस्टर की पड़ेगी जरूरत

भारत में अब तक करीब 97 करोड़ टीके की खुराकें लगाई जा चुकी हैं और अगले सप्ताह तक यानी 19 या 20 अक्टूबर तक देश में टीके की खुराकें लगाने की संख्या 100 करोड़ तक पहुंचने की उम्मीद है।

इस नामी वैज्ञानिक को लगता है कि भारत में कोविड बूस्टर की पड़ेगी जरूरत
Photo by Obi Onyeador / Unsplash

भारत के प्रख्यात वैज्ञानिक और बायोकेमिस्ट प्रो. जी पद्मनाभन ने कहा कि देश को अगले साल के मध्य तक कोविड वैक्सीन की तीसरी खुराक की आवश्यकता हो सकती है।उन्होंने कहा कि तीसरी खुराक के बारे में उनकी राय "वैज्ञानिक समझ" पर आधारित है। प्रो. पद्मनाभन तमिलनाडु केंद्रीय विश्वविद्यालय के कुलाधिपति हैं और उन्हें पद्म भूषण से सम्मानित किया जा चुका है।

प्रो. पद्मनाभन तमिलनाडु केंद्रीय विश्वविद्यालय के कुलाधिपति हैं 

उन्होंने बताया कि अभी तक यह जवाब नहीं मिल पाया है कि सुरक्षात्मक एंटीबॉडी कब तक चलेगी।  छह महीने से लेकर एक साल के समय का अनुमान लगाया गया है। अगर वायरस अपने आप कमजोर नहीं हुआ है, तो फिर से संक्रमण की संभावना है।