मोदी ने की UNSC की अध्यक्षता, समुद्री सुरक्षा व उग्रवाद के खात्मे पर जोर

प्रधानमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये ‘समुद्री सुरक्षा को बढ़ावा: अंतरराष्ट्रीय सहयोग की आवश्यकता’ पर खुली परिचर्चा की अध्यक्षता की।

मोदी ने की UNSC की अध्यक्षता, समुद्री सुरक्षा व उग्रवाद के खात्मे पर जोर

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) की बैठक की अध्यक्षता कर इतिहास रचा। पीएम मोदी परिषद की अध्यक्षता करने वाले देश के पहले प्रधानमंत्री हैं। उन्होंने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से यूएनएससी की उच्चस्तरीय बैठक में आतंकी घटना और समुद्रीय सुरक्षा पर जोर दिया।

पीएम मोदी की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के सदस्य देशों के राष्ट्राध्यक्षों, सरकार के प्रमुखों और संयुक्त राष्ट्र प्रणाली और प्रमुख क्षेत्रीय संगठनों के उच्च स्तरीय विशेषज्ञों ने भाग लिया। बैठक में रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन भी मौजूद रहे।

पीएम मोदी यूएनएससी की अध्यक्षता करने वाले भारत के पहले प्रधानमंत्री हैं।

प्रधानमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये ‘समुद्री सुरक्षा को बढ़ावा: अंतरराष्ट्रीय सहयोग की आवश्यकता’ पर खुली परिचर्चा की अध्यक्षता की। परिचर्चा समुद्री अपराध और असुरक्षा का प्रभावी ढंग से मुकाबला करने तथा समुद्री क्षेत्र में समन्वय को मजबूत करने के तरीकों पर केंद्रित थी।

पीएम मोदी ने कहा कि समुद्री विवाद का समाधान शांतिपूर्ण और अंतरराष्ट्रीय कानून के आधार पर होना चाहिए। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि समुद्री मार्ग का इस्तेमाल आतंकवाद के लिए हो रहा है। इसे रोकना हम सबकी जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि हमारे समुद्र में कई चुनौतियां हैं। समुद्री मार्ग का दुरुपयोग हो रहा है। इस मार्ग का इस्तेमाल आतंकवाद फैलाने के लिए हो रहा है। समुद्री डकैती को बढ़ावा दिया जा रहा है।