फूलों की थाली सजाने का मन बना लीजिए, श्रीराम के 'दर्शन' का समय निश्चित हो चुका है

आज जो जानकारी मिली है, उसके अनुसार श्रीराम मंदिर मंदिर निर्माण ट्रस्ट ने कहा है कि रामलला के भव्य मंदिर का पहला तल साल 2023 के दिसंबर तक बनकर तैयार हो जाएगा। इस तल में नाट्य मंडप और गर्भगृह होंगे। इस तल के तैयार होने के साथ ही भक्तों को रामलला के दर्शन का अवसर मिलने लगेगा।

फूलों की थाली सजाने का मन बना लीजिए, श्रीराम के 'दर्शन' का समय निश्चित हो चुका है

भारत सहित विश्वभर में रहने वाले करोड़ों हिंदुओं के मन और आत्मा में बसे भगवान श्रीराम के ‘दर्शन’ का समय निश्चित हो चुका है। भारत की अयोध्या नगरी में बन रहे भव्य श्रीराम मंदिर के द्वार श्रद्धालुओं के खोलने का वक्त तय कर लिया गया है। मंदिर के प्रमुख प्रांगण को वर्ष (दिसंबर) 2023 में पूजा-अर्चना के लिए खोलने का निर्णय लिया जा चुका है। इस पांच मंजिला भव्य राम मंदिर का निर्माण जारी रहेगा और उम्मीद है कि पूरा मंदिर परिसर वर्ष 2025 तक घंटे-घड़ियालों, शंखों, मृदंगों सहित श्रीराम की जयघोष से गूंजने लगेगा।

श्रीराम मंदिर मंदिर निर्माण ट्रस्ट ने कहा है कि रामलला के भव्य मंदिर का पहला तल साल 2023 के दिसंबर तक बनकर तैयार हो जाएगा।

भारतीय धार्मिक ग्रंथों व प्राचीन साहित्य के अनुसार अयोध्या में जन्मे भगवान श्रीराम का उनके जन्मस्थल (अयोध्या) में भव्य मंदिर का निर्माण जारी है। पिछले वर्ष पांच अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस मंदिर की आधारशिला रखी थी। गुरुवार को इसके एक वर्ष पूरा होने के उपलक्ष्य में मंदिर परिसर में विशेष पूजा  का आयोजन किया जा रहा है। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट की ओर से आयोजित इस पूजा में संतों के अलावा यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ भी शामिल होंगे।