भारत की 'संसद मौन नहीं है', बहस व शोरशराबे के बीच यहीं से चलता है देश

भारत के बड़े जनकवि ने एक बार कहा था कि ‘मेरे देश की संसद मौन है।’ परंतु अब संसद विभिन्न मसलों को लेकर मुखर है। देश से जुड़ी समस्याएं हों या विकास की बातें। संसद ‘बातें’ करती हैं। भारत में संसद का वर्षाकालीन सेशन चल रहा है। अंदर-बाहर ‘हंगामा’ है। बहुत चल रहा है संसद परिसर में। देखिए उसकी एक झलक।

भारत की 'संसद मौन नहीं है', बहस व शोरशराबे के बीच यहीं से चलता है देश
भारत का संसद भवन

भारतीय संसद भवन एक ऐसा स्थल है जहां पक्ष व विपक्ष के नेता एक ही छत के नीचे होते हैं। आजकल मॉनसून सत्र चल रहा है। गत 18 जुलाई से शुरू हुआ यह सत्र 12 अगस्त तक चलेगा।

वरिष्ठ वकील व भारत की विदेश व संस्कृति राज्यमंत्री मीनाक्षी लेखी प्रवासी भारतीयों के मसलों को लेकर सक्रिय रहती हैं। जब भी वह विदेशी दौरा करती हैं, प्रवासियों से मिलकर उनकी समस्याओं का समाधान करने का प्रयास करती हैं। सदन में भी वह जब-तब ऐसे मसले उठाती रहती हैं।
भाजपा सांसद सरोज पांडे (बीच में) व सत्ता पक्ष के ही सांसद प्रो. राकेश सिन्हा एक अन्य महिला सांसद सदन के बाहर अपने वाहन के इंतजार में। विशेष बात यह है कि इसी दौरान ये सदस्य पत्रकारों के साथ खूब अनौपचारिक बातचीत भी कर लेते हैं। 
एनडीए सरकार के पहले कार्यकाल में केंद्रीय मंत्री रही मेनका गांधी संसद सत्र के दौरान लगातार सक्रिय रहती हैं। वह देश में पशु अधिकार कार्यकर्ता के लिए भी जानी जाती हैं। उनकी बेबाकी खासी चर्चा में रहती है। मेनका गांधी भारत की मशहूर नेता पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की पुत्रवधू हैं। 
संसद में ED (प्रवर्तन निदेशालय) के कार्यकलापों को लेकर खासा शोर-शराबा हो रहा है। निदेशालय ने हाल ही में आर्थिक गड़बड़ी के आरोप में शिवसेना सांसद संजय राउत को गिरफ्तार किया है। इस मसले पर सदन के बाहर विचार व्यक्त करते हुए कांग्रेस सांसद शशि थरूर।
संसद में गैर राजनैतिक हस्तियां भी अपने जलवे दिखाती रही हैं। इस बार संसद में कई फिल्म स्टार जैसे शत्रुघ्न सिन्हा, हेमा मालिनी, मनोज तिवारी आदि के अलावा क्रिकेट स्टार हरभजन सिंह भी शामिल हैं। सदन के बाहर सिंह एक प्रसन्न मुद़ा में संसद के सुरक्षा स्टाफ के साथ। 
महाराष्ट्र से राज्यसभा सांसद प्रियंका चतुर्वेदी कई मसलों पर प्रभावी विचार रखती हैं। वह अपनी पार्टी शिवसेना की प्रवक्ता भी हैं। मृदुभाषी चतुर्वेदी जब संसद में बोलती हैं तो सभी उनको ध्यान से सुनते हैं। 
भारत के स्वर्ग कहे जाने वाले राज्य जम्मू-कश्मीर से सांसद फारूक अब्दुल्ला सालों से राज्य व देश की राजनीति में सक्रिय हैं। वह जम्मू-कश्मीर के मुख्यमंत्री भी रह चुके हैं। कांग्रेस नेतृत्व वाली यूपीए सरकार में वह केंद्रीय मंत्री भी रह चुके हैं। संसद में वह बड़ी मुखरता से बोलते हैं। 

सभी फोटो: राजीव भट्ट