अब लंदन में 'आग' लगाएगी नागालैंड की 'राजा मिर्ची'

साल 2021 में ही त्रिपुरा के कटहल को लंदन और जर्मनी, असम के नींबू को लंदन, असम के लाल चावल को संयुक्त राज्य अमेरिका और लेटेकु के 'बर्मी अंगूरों' को दुबई भेजा जा चुका है।

अब लंदन में 'आग' लगाएगी नागालैंड की 'राजा मिर्ची'
Photo by Shubha gambhir / Unsplash

अपने उत्तर-पूर्वी राज्यों के उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए भारत सरकार ने पहली बार नागालैंड की 'राजा मिर्ची' को लंदन निर्यात किया है। नागालैंड की इस मिर्ची को मिर्चों का राजा कहा जाता है। इस मिर्च को गुवाहाटी से हवाई मार्ग के जरिए लंदन पहुंचाया गया है। इस मिर्ची को दुनियाभर की पांच तीखी मिर्चों में शुमार किया गया है।

Red and Green
इस मिर्ची को नागालैंड में भूत जोलोकिया और घोस्ट पेपर भी कहा जाता है। Photo by Hari Nandakumar / Unsplash

राजा मिर्ची की खेप को स्कोविल हीट यूनिट्स (एसएचयू) के आधार पर दुनिया की सबसे गर्म खेप भी माना जाता है। राजा मिर्ची की इस खेप को नागालैंड के पेरेन जिले के तेनिंग से मंगवाया गया था और गुवाहाटी में मौजूद कृषि और प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण (एपीईडीए) के पैक हाउस में पैक किया गया। एपीईडीए ने नागालैंड स्टेट एग्रीकल्चरल मार्केटिंग बोर्ड (एनएसएएमबी) के सहयोग से राजा मिर्ची की पहली खेप को निर्यात किया है।