पहली अंतरिक्ष यात्रा के लिए तैयार हैं भारतीय-अमेरिकी एस्ट्रोनॉट राजा चारी

राजा चारी आधुनिक लड़ाकू विमान एफ-35 के बेड़े की कमान भी संभाल चुके हैं। उन्हें इंटीग्रेटेड टेस्ट फोर्स का निदेशक भी नियुक्त किया गया था। इस अंतरिक्ष अभियान के लिए चुने गए चार लोगों में सिर्फ चारी ही भारतीय मूल के नागरिक हैं।

पहली अंतरिक्ष यात्रा के लिए तैयार हैं भारतीय-अमेरिकी एस्ट्रोनॉट राजा चारी

भारतीय-अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री (एस्ट्रोनॉट) राजा चारी, अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन के लिए नासा के अगले अभियान की अगुवाई करने के लिए तैयार हैं। इस अभियान की शुरुआत रविवार को होगी और यह राजा चारी की पहली अंतरिक्ष यात्रा भी होगी। चारी, अमेरिकी वायुसेना में कर्नल की रैंक पर हैं। उन्हें यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी (यूएसए) ने आईआईएस के लिए स्पेसएक्स क्रू-3 अभियान का कमांडर चुना गया है।

चारों अंतरिक्ष यात्री स्पेसएक्स के ड्रैगन स्पेसक्राफ्ट से 31 अक्तूबर को सूर्योदय से पहले 2.21 बजे (स्थानीय समयानुसार) उड़ान भरेंगे। यह उड़ान नासा के फ्लोरिडा स्थित कैनेडी स्पेस सेंटर से भरी जाएगी। यदि सब कुछ तय योजना के अनुसार रहा तो 22 घंटे की यात्रा के बाद क्रू ड्रैगन सोमवार यानी एक नवंबर को पूर्वाह्न 12:10 बजे अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन पर पहुंचने और वहां पर डॉक करने की स्थिति में होगा।