पहले वैश्विक बौद्ध सम्मेलन की मेजबानी करेगा भारत, जानें खास बातें

आईसीसीआर के महानिदेशक दिनेश के पटनायक ने कहा, "यह एक अकादमिक सम्मेलन है। संपूर्ण विचार यह है कि भारत को बौद्ध धर्म का केंद्र कैसे बनाया जाए। यह पर्यटन के बारे में नहीं है, बल्कि इसे बौद्ध गतिविधियों का केंद्र बनाने के बारे में है।

पहले वैश्विक बौद्ध सम्मेलन की मेजबानी करेगा भारत, जानें खास बातें

भारतीय सांस्कृतिक संबंध परिषद (ICCR) दो दिवसीय वैश्विक बौद्ध सम्मेलन का आयोजन करेगा, जो 19 नवंबर से शुरू होगा। आईसीसीआर भारत सरकार का एक स्वायत्त संगठन है, जो अन्य देशों और उनके लोगों के साथ सांस्कृतिक आदान-प्रदान के माध्यम से देश के विदेशी सांस्कृतिक संबंधों में शामिल है। यह पहला वैश्विक बौद्ध सम्मेलन है जो भारत में आयोजित होने जा रहा है।

यह बौद्ध सम्मेलन बिहार के नालंदा के नव नालंदा महावीर परिसर (Nava Nalanda Mahavira campus) में होगा। नालंदा प्राचीन भारत में अपने बौद्ध विश्वविद्यालय के लिए प्रसिद्ध था। शिक्षा और सीखने के विभिन्न पहलुओं में अपने महत्वपूर्ण योगदान के कारण यह पौराणिक स्थिति के लिहाज से काफी अहम माना जाता है। कहा जाता है कि बौद्ध धर्म के प्रणेता गौतम बुद्ध ने इस विश्वविद्यालय में व्याख्यान दिया था।