अमेरिका ने ‘विवादित’ राजदूत को रोका तो भारत पर भड़का पाकिस्तान

रिपब्लिकन सांसद स्कॉट पेरी ने अमेरिका में पाकिस्तान के नए राजदूत मसूद खान को जिहादी और आतंकवादियों से सहानुभूति रखने वाला बताकर उनकी आलोचना की थी। पिछले हफ्ते राष्ट्रपति जो बाइडेन को लिखे पत्र में स्कॉट पेरी ने कहा था कि मसूद खान आतंकवादियों से सहानुभूति रखने वाले बेईमान इंसान हैं।

अमेरिका ने ‘विवादित’ राजदूत को रोका तो भारत पर भड़का पाकिस्तान
Photo by Hamid Roshaan / Unsplash

पाकिस्तान आतंकियों के साथ कथित तौर पर हमदर्दी रखने वाले मसूद खान को अमेरिका में अपना राजदूत नियुक्त करना चाहता है। लेकिन अमेरिका के सांसद ने इसका विरोध कर दिया। जिसके बाद अमेरिका में ये सवाल उठने लगे कि भला पाकिस्तान सरकार आतंकियों के हमदर्द को अपने देश का प्रतिनिधि बनाकर कैसे भेज सकती है। अमेरिका ने फिलहाल मसूद खान की नियुक्ति पर रोक लगा दी है। अब इस बात के लिए पाकिस्तान भड़क गया है। वह दुनिया भर में हुई अपनी इस बेइज्जती का ठीकरा भारतीय मीडिया और अमेरिका में रहने वाले भारतीय ‘लॉबी’ पर फोड़ रहा है।

हालांकि पाकिस्तान नियुक्ति को रोकने की बात को गलत बता रहा है। पाकिस्तान के विदेश कार्यालय के प्रवक्ता असीम इफ्तिखार ने भारत पर आरोप लगाया कि उसने वाशिंगटन में उसके राजदूत के नामांकन को मंजूरी देने में अमेरिका द्वारा देरी के बारे में “फर्जी समाचार” फैलाया। लेकिन पाकिस्तानी अखबार डॉन ने अपनी रिपोर्ट में मसूद खान की नियुक्ति को मंजूरी नहीं मिलने की बात को प्रमुखता से उठाया है। पाकिस्तानी अधिकारियों के हवाले से अखबार ने भारतीय ‘लॉबी’ को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया है। पाकिस्तानी अखबार ने लिखा है कि पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के अधिकारियों का मानना है कि चूंकि मसूद खान कश्मीर के अधिकारी रह चुके हैं, लिहाजा उनकी नियुक्ति स्वीकारने में अमेरिका देरी कर रहा है।