यूक्रेन शरणार्थियों को खाना खिलाने में जुटे शेफ, पद्मा लक्ष्मी ने बढ़ाया हौसला

पोलैंड-यूक्रेन सीमा पर जरूरतमंद हजारों लोगों को भोजन देने के अलावा संस्था ने यूक्रेन के भीतर स्थानीय रेस्तरां के साथ काम करना शुरू कर दिया है। जिससे स्थानीय निवासियों और सैनिकों को भोजन उपलब्ध कराया जा सके।

यूक्रेन शरणार्थियों को खाना खिलाने में जुटे शेफ, पद्मा लक्ष्मी ने बढ़ाया हौसला

रूसी बमबारी से यूक्रेन के कीव, खारकीव, बुका और इरपिन आदि शहर में कई इमारतें खंडहर में तब्दील हो गई हैं। लोग खौफजदा होकर यूक्रेन छोड़कर भाग रहे हैं। लाखों लोग पोलैंड, हंगरी, मोल्दोवा आदि देशों में शरणार्थी बनकर रह रहे हैं। उनके सामने खाने-पीने से लेकर रहने की समस्या उत्पन्न हो गई है। ऐसी परिस्थिति में पीड़ित लोगों की सहायता के लिए कई तरह के संगठन और व्यक्ति सामने आ रहे हैं। इनके काम को दुनिया की कई बड़ी हस्तियों का समर्थन भी मिल रहा है।

इस मानवतावादी काम में उनका सपोर्ट किया है भारतीय मूल की अमेरिकी मॉडल और लेखिका पद्मा लक्ष्मी ने। 

इन्हीं में से एक हैं प्रसिद्ध शेफ और मानवतावादी के रूप में पहचाने जाने वाले जोस एंड्रेस। उन्होंने सोशल मीडिया पर बताया कि उनके समूह ‘वर्ल्ड सेंट्रल किचन’ ने विनाशकारी परिस्थितियों में जी रहे यूक्रेनी शरणार्थियों को भोजन वितरित करना शुरू कर दिया है। जोस एंड्रेस यूक्रेन-पोलैंड सीमा पर इंतजार कर रहे शरणार्थियों के लिए गर्म खाना मुहैया करवा रहे हैं। इस मानवतावादी काम में उनका सपोर्ट किया है भारतीय मूल की अमेरिकी मॉडल और लेखिका पद्मा लक्ष्मी ने।