बंगाली समुदाय के योगदान को कनाडा ने माना, अप्रैल बांग्ला धरोहर महीना घोषित

ओटावा के मेयर ने कहा कि अप्रैल ही वह महीना है जब दक्षिण एशियाई बंगाली समुदाय का सबसे बड़ा त्योहार बांग्ला नववर्ष यानी पोइला बोइशाख मनाया जाता है। इसलिए मैं अप्रैल 2022 को बांग्ला धरोहर महीना घोषित करता हूं।

बंगाली समुदाय के योगदान को कनाडा ने माना, अप्रैल बांग्ला धरोहर महीना घोषित
बांग्ला हेरिटेज मंथ प्रोक्लेमेशन प्राप्त करते भारतीय राजूत अजय बिसारिया

कनाडा की राजधानी ओटावा में बड़ी संख्या में बंगाली समुदाय के लोग रहते हैं और इस देश की संस्कृति हो या राजनीति, उसके विकास में इस समुदाय का अहम योगदान है। समुदाय के इसी योगदान को स्वीकार करते हुए ओटावा शहर के मेयर जिम वास्टन ने अप्रैल 2022 को बांग्ला हेरिटेज मंथ (बांग्ला धरोहर महीना) घोषित किया है। यह जानकारी भारतीय उच्चायोग ने शुक्रवार को दी।

उच्चायुक्त अजय बिसारिया ने एक बंगाली प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात की तस्वीर और घोषणापत्र साझा करते हुए ट्वीट किया, 'बांग्ला धरोहर का जश्न मना रहे हैं, ओटावा सिटी द्वारा जारी बांग्ला धरोहर महीना के घोषणापत्र को प्राप्त करने के लिए अमिताभ सान्याल के नेतृत्व में बांग्ला धरोहर समुदाय के सदस्यों से मिलकर खुशी हो रही है। मैं मेयर जिम वाटसन के प्रति आभार प्रकट करता हूं।' मेयर वाटसन ने गुरुवार को ओटावा के बंगाली समुदाय को यह उद्घोषणा पत्र सौंपा था जिन्होंने आगे यह भारतीय उच्चायोग के सुपुर्द कर दिया।

वाटसन ने गुरुवार को प्रोक्लेमेशन बंगाली समुदाय को सौंपा था।

ओटावा के मेयर ने फैसले के पीछे की बताई वजह

जिम वाटसन ने इस फैसले के पीछे की वजह बताते हुए कहा, 'ओटावा दक्षिण एशिया के व्यापक बंगाली समुदाय का घर है, जहां कई भाषाओं की तरह बांग्ला भी बोली जाती है। कनाडा में पहले बंगाली प्रवासी 20वीं शताब्दी में आए थे, जिन्होंने ओंटेरियो और कनाडा में विज्ञान, शिक्षा,मेडिसिन, कानून, राजनीति, मीडिया और संस्कृति में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। उन्होंने साथ ही विकास, संपन्नता और नवोन्मेष में तेजी लाने में मदद की है।'

वहीं, घोषणापत्र में वाटसन कहते हैं, 'अप्रैल ही वह महीना है जब दक्षिण एशियाई बंगाली समुदाय का सबसे बड़ा त्योहार बांग्ला नववर्ष यानी पोइला बोइशाख मनाया जाता है।'  

ओटावा का घोषणापत्र

ओटावा शहर के मेयर का कहना है कि बांग्ला धरोहर महीना आगे की पीढ़ी को समृद्ध बांग्ला संस्कृति का जश्न मनाने और उसके बारे में ज्ञान हासिल करने का अवसर देगा जो संस्कृति ओंटेरियो और कनाडा में कई समुदायों में जोश भर देती है। इन सभी कारणों को देखते हुए उन्होंने बांग्ला धरोहर महीने की घोषणा की है।

ऐसा पहली बार नहीं है जब कनाडा में किसी समुदाय विशेष को भारत को इस तरह का सम्मान दिया गया हो। हाल ही में कोलंबिया प्रांत ने बाबा साहेब आंबेडकर और ज्योतिबा फुले जैसे महान समाज सेवियों की याद में अप्रैल को 'दलित इतिहास महीना' घोषित किया है।