अमेरिका में पढ़ रहे भारतीय छात्रों को 'जोड़ने' के लिए खास कार्यक्रम का आयोजन

अमेरिका के तमाम कॉलेज और विश्वविद्यालयों में करीब 2 लाख भारतीय छात्र पढ़ाई कर रहे हैं। भारतीय छात्रों के लिए यूएसए सबसे पसंदीदा एजुकेशन डेस्टिनेशन है।

अमेरिका में पढ़ रहे भारतीय छात्रों को 'जोड़ने' के लिए खास कार्यक्रम का आयोजन
कार्यक्रम को संबोधित करते भारतीय महावाणिज्य दूत रणधीर सिंह जायसवाल

ग्लोबल ऑर्गेनाइजेशन ऑफ पीपल ऑफ इंडियन ओरिजिन (GOPOI) मैनहट्टन ने न्यूयॉर्क स्थित भारतीय महावाणिज्य दूतावास (Consulate General of India) के सहयोग से पूर्वोत्तर अमेरिका में अध्ययन कर रहे भारतीय छात्रों को समुदाय से जोड़ने के लिए 'मीट एंड ग्रीट' (Meet and Greet) कार्यक्रम का आयोजन किया। छात्रों को भारतीय वाणिज्य दूतावास की सेवाओं के बारे में जानकारी दी गई। इस कार्यक्रम में भारतीय महावाणिज्य दूत, एंबेसडर, GOPIO के तमाम पदाधिकारियों और 21 यूनिवर्सिटी के भारतीय छात्रों ने फिजिकल व वर्चुअल तरीके से हिस्सा लिया।

वीडियो मैसेज के जरिए छात्रों को संबोधित करते हुए अमेरिका में भारत के राजदूत तरनजीत सिंह संधू।

कार्यक्रम की शुरुआत GOPIO इंटरनेशनल के चेयरमैन डॉ. थॉमस अब्राहम ने वक्ताओं को छात्रों को सलाह देने, प्रेरित करने और मार्गदर्शन करने के लिए प्रोत्साहित किया। डॉ. अब्राहम ने कहा, "1960 और 70 के दशक में जब एक विदेशी छात्र विश्वविद्यालय में शामिल होता था, तब एक मेजबान परिवार दिया जाता था। अब सोशल मीडिया के साथ मेजबान परिवार की अवधारणा खत्म हो गई और आप 45 लाख भारतीय अमेरिकी नए छात्रों के मेजबान परिवार के रूप में मौजूद हैं।”