न्यूजीलैंड: अफसर को रिश्वत की पेशकश, अब गुरविंदर को भारत आना पड़ेगा

गुरविंदर सिंह बिजनेस मैनेजमेंट की पढ़ाई करने के लिए पहली बार 2014 में स्टूडेंट वीजा पर न्यूजीलैंड पहुंचे थे। उनके माता-पिता और दो बहनें भारत में रहती हैं।

न्यूजीलैंड: अफसर को रिश्वत की पेशकश, अब गुरविंदर को भारत आना पड़ेगा
Photo by Bill Oxford / Unsplash

न्यूजीलैंड के एक पुलिस अधिकारी को रिश्वत देने की पेशकश करने वाले गुरविंदर सिंह (Gurwinder Singh) को भारत निर्वासित (डिपोर्ट) किया जाएगा। 27 वर्षीय गुरविंदर ने शराब पीने के आरोपों से मुक्त करने के लिए पुलिस अधिकारी को 200 डॉलर देने की कोशिश की थी। हाल ही में जारी इमिग्रेशन एंड प्रोटेक्शन ट्रिब्यूनल के फैसले से पता चला है कि गुरविंदर को मई 2019 में शराब के नशे में गाड़ी चलाते हुए पकड़ा गया था।

Prison cell on Robben Island near Cape Town
गुरविंदर सिंह को इस साल फरवरी में दोषी ठहराया गया था और उन्हें छह महीने की नजरबंदी की सजा सुनाई गई थी।Photo by Grant Durr / Unsplash

इसेंशियल स्किल वर्क वीजा धारक गुरविंदर सिंह ने पुलिस अधिकारी से मामला रफा-दफा करने का अनुरोध करते हुए 200 डॉलर (करीब 15000 रुपये) की पेशकश की थी, लेकिन पुलिस अधिकारी ने ऐसा करने से इनकार कर दिया। गुरविंदर सिंह को इस साल फरवरी में दोषी ठहराया गया था और उन्हें छह महीने की नजरबंदी की सजा सुनाई गई थी। इसके अलावा कोर्ट ने गुरविंदर पर 170 डॉलर (करीब 12000 रुपये) जुर्माना लगाया और छह महीने के लिए ड्राइविंग से अयोग्य घोषित कर दिया था।