न्यू मैक्सिको ने किया 'एक दिन भारतीय डॉक्टर के नाम'

विलासियर इरालू को यह सम्मान उनकी सेवाओं के लिए दिया गया। दरअसल चिकित्सक के तौर पर उन्होंने राज्य में कोरोना काल के दौरान अपनी असाधारण सेवाएं दीं थीं जैसे कि राज्य में पहला मामला सामने आते ही इरालू ने पहला ड्राइव-इन कोविड परीक्षण केंद्र स्थापित किया था।

न्यू मैक्सिको ने किया 'एक दिन भारतीय डॉक्टर के नाम'

विदेशी धरती पर जब किसी भारतीय को सम्मान मिले तो एक परिवार ही नहीं, पूरा गांव, कस्बा या फिर शहर झूमने लगता है। कुछ यही हाल कुछ दिनों पहले नागालैंड में देखने को मिला। दरअसल, नागालैंड के ​मूल निवासी को विदेशी जमीन पर सम्मानित किया गया है। न्यू मैक्सिको प्रशासन ने कोरोना महामारी के दौरान डॉ. जोनाथन विलासियर इरालू की असाधारण सेवाओं को ध्यान में रखते हुए उन्हें सम्मानित करने का फैसला किया है। उनके सम्मान में 19 जुलाई के दिन न्यू मैक्सिकों में डॉ.जोनाथन विलासियर इरालू दिवस मनाया गया था। इस अवसर पर नागालैंड के मुख्यमंत्री ने डॉ. इरालू को बधाई भी दी।

चिकित्सक के तौर पर उन्होंने राज्य में कोरोना काल के दौरान असाधारण सेवाएं दीं थीं