न्यूयॉर्क में भारतीय पुलिस अफसर को इसलिए एक साल में मिल गया प्रमोशन

कमिश्नर सीवेल ने कहा कि मुझे पुलिस अफसर सुमित सुलन को जासूस के पद पर पदोन्नत करने का सम्मान मिला है। हमले की रात संकट के बीच भी सुलन ने कथित तौर पर मां और उसके दूसरे बेटे को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया था।

न्यूयॉर्क में भारतीय पुलिस अफसर को इसलिए एक साल में मिल गया प्रमोशन

अमेरिका के न्यूयॉर्क में भारतीय मूल के 27 साल के पुलिस अधिकारी सुमित सुलन को बहादुरी के चलते पुलिस विभाग ने पदोन्नत किया है। खास बात यह है कि सुमित सुलन को पुलिस विभाग में एक साल से भी कम वक्त हुआ है। सुमित ने पिछले महीने 21 जनवरी को बहादुरी दिखाते हुए एक अपराधी को मार गिराया था जिसने एक पुलिसकर्मी की गोली मारकर हत्या कर दी थी और एक अन्य पुलिसकर्मी को गंभीर रूप से घायल कर दिया था। सुमित सुलन करीब 15 साल पहले भारत से अमेरिका पहुंचे थे।

सुमित ने पिछले साल अप्रैल में विभाग में काम करना शुरू​ किया था और मात्र 7 महीने की नौकरी के बावजूद 21 जनवरी को एक बंदूकधारी का सामना किया था। इस साहस की न्यूयॉर्क में खूब चर्चा हुई थी। पुलिसकर्मियों पर हमला उस वक्त हुआ जब वह घरेलू हिंसा की जांच करने न्यूयॉर्क शहर के पास स्थित हार्लेम पहुंचे थे। हालांकि इस हमले में अपने एक साथी की मौत और दूसरे के घायल होने से सुमित मानसिक तौर पर पूरी तरह से हिल गए थे। सुमित को उनके सहकर्मी इस मामले के बाद से "सुपर रूकी" कहते हैं।