महारानी के कार्यक्रम में प्रिंस ने पर्यावरणविद सुनीता नारायण को क्यों याद किया

प्रिंस विलियम ने पर्यावरण पर अपना संदेश दिया। उन्होंने कई पर्यावरणविदों के काम की सराहना की। उन्होंने कहा कि वह मैं अमेरिका के रेचल कार्सन, केन्या से वंगारी मथाई, भारत की सुनीता नारायण और कई अन्य लोगों के बारे में विचार करते हैं। इस दौर में मानव जाति को वैज्ञानिक सफलताओं का लाभ मिला है।

महारानी के कार्यक्रम में प्रिंस ने पर्यावरणविद सुनीता नारायण को क्यों याद किया

ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के शासन के 70 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में आयोजित चार-दिवसीय प्लेटिनम जुबली समारोह के तीसरे दिन बकिंघम पैलेस के सामने एक विशेष संगीत कार्यक्रम में प्रिंस चार्ल्स और उनके बेटे प्रिंस विलियम ने महारानी को सम्मानित किया। इस अवसर पर समारोह के दौरान ब्रिटेन के प्रिंस विलियम ने भारत की पर्यावरणविद सुनीता नारायण का विशेष जिक्र किया। बकिंघम पैलेस के बाहर 360 डिग्री के मंच पर एक ग्रैंड जुबली पार्टी के दौरान अपने भाषण में प्रिंस विलियम ने पर्यावरण पर अपना संदेश दिया। उन्होंने कई पर्यावरणविदों के काम की सराहना की।

खुले में आयोजित ‘पार्टी एट द पैलेस’ समारोह में करीब 22,000 लोग एकत्र हुए, जिनके सामने डायना रॉस, रॉक बैंड क्वीन, डुरान डुरान, एलिसिया कीज और अन्य कलाकारों ने प्रस्तुति दी। शनिवार की रात को हुए इस समारोह में प्रिंस विलियम ने पर्यावरण के प्रति महारानी की दीर्घकालिक प्रतिबद्धता को रेखांकित किया। उन्होंने जलवायु परिवर्तन से निपटने की आवश्यकता पर प्रकाश डाला। प्रिंस विलियम ने कहा कि मैं अमेरिका के रेचल कार्सन, केन्या से वंगारी मथाई, भारत की सुनीता नारायण और कई अन्य लोगों के बारे में विचार करता हूं। इस दौर में मानव जाति को अकल्पनीय तकनीकी विकास और वैज्ञानिक सफलताओं का लाभ मिला है।

प्रिंस विलियम के संबोधन के बाद उनके पिता प्रिंस चार्ल्स ने अपने भाषण की शुरुआत में महारानी को ‘महामहिम मां’ के रूप में संबोधित किया और फिर ‘आजीवन निस्वार्थ सेवा’ करने के लिए उन्हें धन्यवाद दिया। महारानी ने सबसे बड़े पुत्र प्रिंस चार्ल्स ने बताया कि एलिजाबेथ ने किन नेताओं से मुलाकात की है और उनके शासनकाल में उन्हें शीत युद्ध की शुरुआत से लेकर सूचना के युग तक असीमित राजकीय पत्र मिले हैं। उन्होंने तेजी से बदलती इस दुनिया में ब्रिटेन और राष्ट्रमंडल को एकजुट करते हुए ‘स्थिरता के प्रतीक’ के रूप में अपनी मां की भूमिका पर भी प्रकाश डाला।

चार्ल्स ने कहा, आपने हमसे मुलाकात की और हमसे बात की। आप हमारे साथ हंसी और रोईं और सबसे जरूरी बात, आप इन 70 साल में हमारे साथ रहीं। आपने अपने पूरे जीवन में सेवा करने का संकल्प लिया, जिसे आप अब भी निभा रही हैं, इसलिए हम यहां हैं, इसीलिए हम आज रात जश्न मना रहे हैं। महारानी स्वास्थ्य संबंधी कारणों से गुरुवार से समारोहों में शामिल नहीं हो पाई हैं, लेकिन इसके बावजूद भीड़ ने कॉन्सर्ट का खूब आनंद लिया। शनिवार को रिकॉर्ड किए गए वीडियो में उन्हें ‘पैंडिंगटन बीयर’ के एनिमेटेड संस्करण के साथ देखकर भीड़ खुश हो गई।