'द कश्मीर फाइल्स' पर न्यूजीलैंड में क्यों लगी रोक, पूर्व डिप्टी पीएम हुए नाराज

न्यूजीलैंड के सेंसर बोर्ड ने पहले 'द कश्मीर फाइल्स' को 'ए' सर्टिफिकेट दिया था। रिपोर्ट में कहा गया है कि मुस्लिम समुदाय के सदस्यों द्वारा फिल्म की सामग्री पर चिंता जताए जाने के बाद सेंसर बोर्ड फिल्म की समीक्षा कर रहा है।

'द कश्मीर फाइल्स' पर न्यूजीलैंड में क्यों लगी रोक, पूर्व डिप्टी पीएम हुए नाराज

भारतीय फिल्म निर्देशक विवेक अग्निहोत्री की चर्चित फिल्म 'द कश्मीर फाइल्स' को लेकर न्यूजीलैंड में विवाद खड़ा हो गया है। मुस्लिम समुदाय के सदस्यों के विरोध के बाद बॉलीवुड की इस चर्चित फिल्म की रिलीज पर न्यूजीलैंड में रोक लगा दी गई है। पूर्व उप प्रधानमंत्री विंस्टन पीटर्स ने इसकी आलोचना की है। न्यूजीलैंड में रहने वाले भारतीय मूल के लोगों ने भी इसकी निंदा की है। 'द कश्मीर फाइल्स' फिल्म में 1990 के दशक में भारत की कश्मीर घाटी में हिंदुओं पर अमानवीय अत्याचार और उनके पलायन को दर्शाया गया है।

एक फेसबुक पोस्ट में विंस्टन पीटर्स ने कहा कि ‘द कश्मीर फाइल्स' को अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, भारत और दुनिया भर के कई अन्य स्थानों में दिखाया गया है। अब तक इस फिल्म को 1.1 अरब से ज्यादा लोग देख चुके हैं। उन्होंने कहा कि यह फिल्म 1990 में कश्मीर में हिंदुओं की जातीय उन्मूलन की सच्ची और वास्तविक घटनाओं पर आधारित है। 32 साल बीत जाने के बाद भी आज 4 लाख से अधिक कश्मीर हिंदू अपने ही देश में निर्वासन की जिंदगी बसर कर रहे हैं।