न्यू जर्सी की सीनेट ने 1984 के सिख विरोधी दंगों की निंदा की, प्रस्ताव पारित

प्रस्ताव पारित करने पर सिख कोऑर्डिनेशन समिति ईस्ट कोस्ट और अमेरिकी गुरुद्वारा प्रबंधक समिति ने भी सीनेट की सराहना की है। दूसरी ओरअमेरिकी गुरुद्वारा प्रबंधक समिति के डॉ. प्रीतपाल सिंह ने कहा यह प्रस्ताव 1984 में सिखों के खिलाफ सरकार प्रायोजित हिंसा की निंदा करता है।

न्यू जर्सी की सीनेट ने 1984 के सिख विरोधी दंगों की निंदा की, प्रस्ताव पारित

न्यू जर्सी राज्य की सीनेट ने भारत में वर्ष 1984 के सिख विरोधी दंगों की निंदा करते हुए एक प्रस्ताव पारित किया है। सीनेट ने इन दंगों को नरसंहार करार दिया है। यह प्रस्ताव सीनेटर स्टीफन स्वीनी ने पेश किया था। इसे लेकर सिख कॉकस की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि सिख कॉकस समिति के यदविंदर सिंह, प्रीतपाल सिंह और हरप्रीत सिंह ने राज्य की सीनेट की ओर से यह प्रस्ताव पारित करने का समर्थन किया।

प्रस्ताव पारित करने पर सिख कोऑर्डिनेशन समिति ईस्ट कोस्ट और अमेरिकी गुरुद्वारा प्रबंधक समिति ने भी सीनेट की सराहना की है। सीनेट के एक हिंदू सदस्य ने भी प्रस्ताव के समर्थन में मतदान किया था। इस प्रस्ताव में कहा गया है कि भारत में एक नवंबर 1984 को सिखों की हत्या का दौर शुरू हुआ था जो तीन दिन तक जारी रहा था। इस दौरान कई राज्यों में कई सिखों की निर्ममता से हत्या कर दी गई थी।