47 साल के रुचिर शर्मा का दुनिया इसलिए मानती है लोहा

इन्वेस्टमेंट बैंकर के अलावा शर्मा जाने-माने लेखक और स्तंभकार भी हैं। शर्मा ने अपने लेखन की शुरुआत 17 साल की उम्र में भारत के प्रतिष्ठित अंग्रेजी अखबार इकोनॉमिक टाइम्स से की थी। इसके बाद शर्मा के लेखन का लोहा दुनिया के कई अखबारों और पत्रिकाओं ने माना।

47 साल के रुचिर शर्मा का दुनिया इसलिए मानती है लोहा

भारतीय मूल के लेखक और वैश्विक निवेश सलाहकार रुचिर शर्मा को रॉकफेलर कैपिटल मैनेजमेंट का प्रबंध निदेशक और चेयरमैन बनाया गया है। यह कंपनी वित्तीय सलाह देने का काम करती है। 47 साल के रुचिर शर्मा अमेरिका में रहते हैं। वह रॉकफेलर की साझेदारी में एक निवेश कंपनी ‘ब्रेकआउट कैपिटल’ बनाएंगे। बता दें कि कुछ दिनों पहले ही शर्मा ने अमेरिकी मल्टीनेशनल ब्रोकरेज कंपनी मॉर्गन स्टेनली से इस्तीफा दे दिया था। रुचिर शर्मा मॉर्गन स्टेनली इन्वेस्टमेंट मैनेजमेंट में हेड ऑफ इमरजिंग मार्केट्स और मुख्य रणनीतिकार थे।

न्यूयॉर्क में रहने वाले शर्मा 25 साल पहले मॉर्गन कंपनी से जुड़े थे। 1996 में इस कंपनी से जुड़ने वाले रुचिर इनवेस्टमेंट की दुनिया में 27 साल गुजार चुके हैं। बता दें कि निवेश की दुनिया में रुचिर शर्मा की ख्याति पूरे विश्व में है। उनके प्रमुख ग्लोबल इमर्जिंग मार्केट्स फंड ने हाल के वर्षों में दमदार प्रदर्शन किया है। ब्लूमबर्ग ने अक्टूबर 2015 में रुचिर का नाम साल के 50 सबसे ज्यादा प्रभावशाली लोगों की सूची में शामिल किया था। 2012 में फॉरेन पॉलिसी मैगजीन ने शर्मा को दुनिया के शीर्ष विचारकों में से एक चुना था। जून 2013 में आउटलुक ने उन्हें दुनिया के 25 सबसे स्मार्ट लोगों में शामिल किया। वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम ने साल 2007 में उन्हें दुनिया के शीर्ष युवा नेताओं में से एक चुना।