इलेक्ट्रिक वाहन की सवारी करना चाहते हैं एक तिहाई भारतीय

सरकार के फैसलों और विश्व में हो रहे घटनाक्रमों से उपभोक्ता का विश्वास अब बढ़ने लगा है। स्टडी बताती है कि भारत में इलेक्ट्रिक वाहनों में सबसे अधिक दो और तीन पहिया वाहनों के विकास को बढ़ावा मिलने की संभावना है।

इलेक्ट्रिक वाहन की सवारी करना चाहते हैं एक तिहाई भारतीय
Photo by Michael Marais / Unsplash

अमेरिका ही नहीं भारत में भी इलेक्ट्रिक और हाइब्रिड वाहनों को लेकर दिलचस्पी तेजी से बढ़ रही है। हाल ही में ताजा स्टडी के अनुसार निजी वाहन की तलाश करने वाले लगभग एक तिहाई से अधिक भारतीय इलेक्ट्रिक या हाइब्रिड वाहन खरीदने में रुचि रखते हैं।

डेलॉइट्स ग्लोबल ऑटोमोटिव कंज्यूमर स्टडी 2022 के अनुसार 59 फीसदी भारतीय उपभोक्ता जलवायु परिवर्तन, प्रदूषण के स्तर और डीजल वाहनों के उत्सर्जन के बारे में चिंतित हैं और यह दर्शाता है कि इलेक्ट्रिक वाहनों के प्रति भारतीय उपभोक्ताओं की दिलचस्पी कम ईंधन लागत और पर्यावरण जागरूकता के कारण है। बैटरी की अदला-बदली और चार्जिंग के बुनियादी ढांचे के नीतिगत विकास के लिए भी इस साल के भारत के केंद्रीय बजट में कई घोषणा की गई हैं।