Skip to content

लंदन में अंग्रेजों से ज्यादा भारतीयों के पास हैं अपने घर, आखिर ऐसा क्यों?

भारत और यूके में रहने वाले ये लोग लंदन में एक, दो या तीन बेडरूम का अपार्टमेंट खरीदने के लिए 2.9 लाख पाउंड से लेकर 4.5 लाख पाउंड तक खर्च करने को तैयार रहते हैं। इस साल घर खरीदने वाले भारतीयों की संख्या में काफी वृद्धि हुई है। विदेशी खरीदारों में इनका हिस्सा करीब 7-8 प्रतिशत है।

Photo by Christian Vasile / Unsplash

जरा अंदाजा लगाइए कि लंदन में अचल संपत्ति रखने वालों में किस देश के नागरिकों की संख्या सबसे ज्यादा है? आप कहेंगे लंदन में तो अंग्रेज ही सबसे ज्यादा संपत्ति खरीदते होंगे। लेकिन ऐसा नहीं है। वहां भी भारतीयों ने झंडे गाड़ रखे हैं। एक रेजिडेंशियल प्रॉपर्टी डेवलपर बैरेट लंदन की मानें तो लंदन में सबसे ज्यादा संपत्ति मालिक भारतीय हैं। उसके बाद अंग्रेज और पाकिस्तानियों का नंबर आता है।

Modern Living
भारत से बड़ी संख्या में स्टूडेंट और उनके परिवार अच्छी शिक्षा के लिए राजधानी आते हैं। ब्रिटेन के स्कूलों और विश्वविद्यालयों में भारतीय छात्रों के आवेदन एक साल में 128 फीसदी बढ़े हैं। Photo by Chris Greenhow / Unsplash

ब्रिटेन की राजधानी लंदन में प्रॉपर्टी के मालिक भारतीयों में ऐसे लोग शामिल हैं, जो यूके में कई पीढ़ियों से रह रहे हैं, एनआरआई हैं, निवेशक हैं। इसके अलावा अपनी या बच्चों की पढ़ाई के लिए यूके आने वाले परिवार भी हैं। भारत और यूके में रहने वाले ये लोग लंदन में एक, दो या तीन बेडरूम का अपार्टमेंट खरीदने के लिए 2.9 लाख पाउंड से लेकर 4.5 लाख पाउंड तक खर्च करने को तैयार रहते हैं।

This post is for paying subscribers only

Subscribe

Already have an account? Log in

Latest