मुनरो टाउनशिप में पहले भारतीय-अमेरिकी पुलिस अधिकारी बने रितिक

मुनरो के रहने वाले रितिक बेदी हाल ही में केप मे पुलिस एकेडमी से ग्रेजुएट हुए थे। यहां उन्हें हाई एकेडमिक अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित किया गया था। उन्होंने कहा कि यह उपलब्धि पाने वाला पहला एशियाई-भारतीय मूल का व्यक्ति बन कर मुझे गर्व का अनुभव हो रहा है।

मुनरो टाउनशिप में पहले भारतीय-अमेरिकी पुलिस अधिकारी बने रितिक

न्यू जर्सी की मुनरो टाउनशिप अपने पुलिस बल में विविधता ला रही है। यहां के पुलिस विभाग ने पहले भारतीय-अमेरिकी अधिकारी रितिक बेदी को भर्ती किया था।  पिछले दो साल में आमने-सामने हुआ यह पहला शपथ ग्रहण समारोह था।

मुनरो के रहने वाले रितिक बेदी हाल ही में केप मे पुलिस एकेडमी से ग्रेजुएट हुए थे। यहां उन्हें हाई एकेडमिक अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित किया गया था। उन्होंने अपनी पढ़ाई साल 2018 में मुनरो टाउनशिप हाईस्कूल से पूरी की थी। 2021 में उन्होंने कॉलेज ऑफ न्यू जर्सी से फाइनेंस में स्नातक की डिग्री पूरी की थी।

रितिक ने आठ नए अधिकारियों के साथ 17 मई को शपथ ली थी।

रितिक ने आठ नए अधिकारियों के साथ 17 मई को शपथ ली थी। शपथ लेने के बाद बेदी ने कहा कि इस विभाग के महिलाओं और पुरुषों के साथ मिलकर काम करना सच में एक सम्मान है। यह उपलब्धि पाने वाला पहला एशियाई-भारतीय मूल का व्यक्ति बन कर मुझे गर्व का अनुभव हो रहा है। मैं हमारे क्षेत्र के नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए पूरे समर्पण से कार्य करता रहूंगा।

हाईस्कूल और कॉलेज की पढ़ाई के दौरान रितिक बेदी ने मुनरो टाउनशिप इमरजेंसी मेडिकल सर्विसेज में एक ईएमटी के तौर पर भी काम किया था। वह हाईस्कूल की मेयर्स यूथ एडवायजरी काउंसिल (MYAC) के सदस्य थे। उन्होंने हाईस्कूल के लिए नशे में गाड़ी चलाने के खिलाफ एक अभियान का नेतृत्व भी किया था।

युवा पुलिस अधिकारी रितिक बेदी हिंदी और पंजाबी भाषा में भी दक्ष हैं। बता दें कि मुनरो टाउनशिप में समय के साथ भारतीय-अमेरिकी आबादी पढ़ी है। साल 2000 की जनगणना के अनुसार इस इलाके में भारतीय-अमेरिकियों की संख्या 256 (0.9) फीसदी थी जो साल 2017 में बढ़कर 5943 (13.6) फीसदी हो गई थी।