पीएम मोदी का विदेश दौरा और नारी शक्ति की झलक! नॉर्डिक शिखर सम्मेलन में दिखा अलग ही नजारा

नॉर्डिक शिखऱ सम्मेलन में पीएम नरेंद्र मोदी, डेनमार्क की पीएम फ्रेडरिक्शन, नॉर्वे के पीएम जेजी स्टोर, स्वीडन की पीएम एंडरसन, आइसलैंड की पीएम कैटरीन जैकबस्डोटिर और फिनलैंड मरीन साना के बीच महत्वपूर्ण मसलों पर बातचीत हुई। यह पहली बार है जब भारत नॉर्डिक देशों के साथ एक-साथ मंच साझा कर रहा है।

पीएम मोदी का विदेश दौरा और नारी शक्ति की झलक! नॉर्डिक शिखर सम्मेलन में दिखा अलग ही नजारा
भारत-नॉर्डिक शिखर सम्मेलन में पीएम नरेंद्र मोदी।

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डेनमार्क दौरे के आखिरी दिन दूसरे भारत-नॉर्डिक शिखर सम्मेलन में हिस्सा लिया। बैठक की मेजबानी डेनमार्क की पीएम मेट फ्रेडरिक्शन ने की, जिसमें नॉर्डिक के सदस्य देशों स्वीडन, नॉर्वे, फिनलैंड और आइसलैंड के राष्ट्राध्यक्षों ने शिरकत की। शिखर सम्मेलन से पहले पीएम मोदी ने नॉर्डेक के नेताओं से द्विपक्षीय वार्ता की। इसमें व्यापार, निवेश, प्रौद्योगिकी, ऊर्जा सहित अन्य महत्वपूर्ण मुद्दा छाया रहा। अपने डेनमार्क दौरे की समाप्ति के बाद पीएम मोदी आज यानी बुधवार को फ्रांस के लिए रवाना होंगे, जहां वह चुनाव में दोबारा जीत हासिल करने वाले राष्ट्रपति इमैनुएल मैंक्रों से मुलाकात करेंगे।

भविष्य की साझेदारी के लिए बैठक

नॉर्डिक शिखर सम्मेलन में पीएम नरेंद्र मोदी, डेनमार्क की पीएम मेट फ्रेडरिक्शन, नॉर्वे के पीएम जेजी स्टोर, स्वीडन की पीएम मेग्डालेना एंडरसन, आइसलैंड की पीएम कैटरीन जैकबस्डोटिर और फिनलैंड की प्रधानमंत्री मरीन साना के बीच महत्वपूर्ण मसलों पर बातचीत शुरू हुई। भारत, नॉर्डिक देशों में उभरती हुई टेक्नोलॉजी, निवेश, स्वच्छ ऊर्जा, आर्कटिक शोध और अन्य क्षेत्रों में अपने बहुआयामी सहयोग को कैसे मजबूती दे सकता है, वार्ता का केंद्र बिंदू यही रहा। बता दें कि भारत-नॉर्डिक शिखऱ सम्मेलन की शुरुआत 2018 में स्वीडन के स्टॉकहोम में हुई थी। यह पहली बार है जब भारत नॉर्डिक देशों के साथ  एक-साथ कोई मंच साझा कर रहा है।

फिनलैंड की पीएम के साथ द्विपक्षीय बातचीत।

पीएम मोदी के दौरे में नारी शक्ति की झलक

वहीं, पीएम मोदी के दो दिवसीय डेनमार्क दौरे को अगर देखें तो यह नारी शक्ति की झलक पेश करता हुआ नजर आ रहा है। वह पिछले 24 घंटे में भारतीय पीएम ने पांच देशों के राष्ट्राध्यक्षों से मुलाकात की है, जिनमें से चार महिलाएं हैं। डेनमार्क, फिनलैंड, आइसलैंड और स्वीडन इन चारों देशों का नेतृत्व महिलाएं कर रही हैं। वहीं, वह मंगलवार को महारानी मार्गरेट द्वितीय से उनके महल में मिलने पहुंचे थे, जहां उन्हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया था।

शिखर सम्मेलन से पहले मुलाकता की तस्वीर।

कारोबार से लेकर लैंगिक समानता.. इन मुद्दों पर रहा फोकस

कोपनेहेगन में पीएम नरेंद्र मोदी ने शिखर सम्मेलन से पहले नॉर्डिक के सभी नेताओं से अलग-अलग द्विपक्षीय मुद्दों पर बात की। वह सबसे पहले नॉर्वे के पीएम स्टोर से मिले। स्टोर ने 2021 में नॉर्वे की सत्ता संभाली है और पीएम मोदी के साथ यह मुलाकात थी। भारतीय विदेश मंत्रालय के मुताबिक दोनों ने भारत-नॉर्वे के बीच चल रही मौजूदा गतिविधियों की समीक्षा की और भविष्य में किन क्षेत्रों में सहयोग किया जा सकता है इसकी संभावना पर बात की। वहीं, स्वीडन की पीएम मेग्डालेना एंडरसन से मुलाकात के दौरान दोनों पक्षों ने नवाचार, जलवायु परिवर्तन, ग्रीन हाइड्रोडन, अंतरक्षि, रक्षा, नागरिक उड्डयन, ध्रुवीय शोध, व्यापार और अर्थव्यवस्था के क्षेत्र में सहयोग बढ़ाने की संभावना पर जोर दिया।

जब 2018 की यादें हुई ताजा

नॉर्डिक के सदस्य देश आइसलैंड की प्रधानमंत्री कैटरीन जैकबस्डोटिर जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलीं, तो दोनों को 2018 में स्टॉकहोम में हुई बैठक की याद आ गई। उन्होंने इस बात का जिक्र किया कि वह दोनों देशों की दोस्ती का अहम वर्ष था क्योंकि तब दोनों के कूटनीतिक रिश्ते को  50 वर्ष पूरे हुए थे। वहीं, पीएम मोदी ने लैंगिक समानता की दिशा में किए जा रहे प्रयास को लेकर आइसलैंड की पीएम की सराहना भी की। इस आधिकारिक बैठक में शिक्षा, डिजिटल यूनिवर्सिटी, संस्कृति और खाद्य प्रसंस्करण का मुद्दा छाया रहा।

पीएम मोदी ने सबसे आखिर में फिनलैंड की पीएम साना मरीन से मुलाकात की। दो देशों के ये नेता पहली बार एक दूसरे से मिल रहे थे। भारत और फिनलैंड के पीएम ने क्षेत्रीय और वैश्विक  विकास, अंतरराष्ट्रीय संगठनों के साथ सहयोग बढ़ाने पर बात की।