मजार-ए-शरीफ तक पहुंचा तालिबान, 'अपनों' को सुरक्षित निकालेगा भारत

भारतीय दूतावास ने कहा कि विशेष उड़ान से जाने के इच्छुक भारतीय नागरिकों को अपना पूरा नाम, पासपोर्ट नंबर, समाप्ति की तारीख व्हाट्सएप द्वारा भेजना होगा।

मजार-ए-शरीफ तक पहुंचा तालिबान, 'अपनों' को सुरक्षित निकालेगा भारत

अफगानिस्‍तान के 6 प्रांतों पर कब्‍जा कर चुके तालिबान आतंकवादी अब तजिकिस्‍तान से सटे अफगान शहर मजार-ए-शरीफ तक पहुंच गए हैं। अफगान सेना और तालिबान के बीच मजार-ए-शरीफ के बाहरी इलाके में भीषण युद्ध चल रहा है। इस संकट को देखते भारत ने मजार-ए-शरीफ में सक्रिय अपने महावाणिज्‍य दूतावास से कर्मचारियों और भारतीय नागरिकों को निकालने का निर्णय लिया है।

अफगानिस्तान में तालिबान के हमलों को नाकाम करने में मुस्तैद सेना के जवान।

अफगानिस्तान में बिगड़ते हालात को देखते हुए भारत के महावाणिज्य दूतावास ने मजार-ए-शरीफ के आसपास रहने वाले सभी भारतीय नागरिकों से भारत लौटने की अपील की है। दूतावास ने ट्वीट करते हुए लिखा कि मजार-ए-शरीफ से नई दिल्ली के लिए मंगलवार शाम को एक विशेष फ्लाइट रवाना हो रही है। इसलिए मजार-ए-शरीफ के आसपास रहने वाले सभी नागरिकों से अपील है कि वे आज देर शाम प्रस्थान करने वाली विशेष उड़ान से भारत के लिए रवाना हों।

भारतीय दूतावास ने कहा कि विशेष उड़ान से जाने के इच्छुक भारतीय नागरिकों को अपना पूरा नाम, पासपोर्ट नंबर, समाप्ति की तारीख व्हाट्सएप द्वारा भेजना होगा।

इस बीच सूत्रों ने स्‍पष्‍ट किया है कि काबुल में भारतीय दूतावास में कर्मचारी अभी बने रहेंगे। अफगानिस्‍तान से अमेरिकी सेनाओं की वापसी के बाद तालिबान ने भीषण हमले शुरू कर दिए हैं और देश के कई हिस्‍सों पर अब उसका कब्‍जा हो गया है। यही नहीं तालिबान ने देश के 6 प्रांतों की राजधानियों पर कब्‍जा कर लिया है। अब ये आतंकी मजार-ए-शरीफ की ओर बढ़ रहे हैं।