मेलबर्न के भारतीय फिल्म समारोह में 'लूडो', 'शेरनी' व अन्य को मिला शीर्ष नामांकन

इस साल फेस्टिवल में वेब शोज के तहत तीन कैटेगरी लॉन्च की जा रही हैं। यह महोत्सव अभिनेता और अभिनेत्री श्रेणी के तहत प्रत्येक श्रृंखला में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन को मान्यता देगा।

मेलबर्न के भारतीय फिल्म समारोह में 'लूडो', 'शेरनी' व अन्य को मिला शीर्ष नामांकन

विद्या बालन अभिनीत ‘शेरनी’, अनुराग बासु के निर्देशन वाली ‘लूडो’, सूर्या अभिनीत ‘सोरारई पोटरू’ और बिस्वजीत बोरा के निर्देशन में बनी 'गॉड ऑन द बालकनी' को इंडियन फिल्म फेस्टिवल ऑफ मेलबर्न (आईएफएफएम) पुरस्कार 2021 में शीर्ष फिल्म पुरस्कारों के लिए नामांकित किया गया है।

पिछले साल के डिजिटल संस्करण की सफलता के बाद आईएफएफएम का 12वां संस्करण कोरोना वायरस महामारी के चलते लोगों की मौजूदगी के साथ और वर्चुअल, दोनों तरीकों से होगा। हालांकि ऑस्ट्रेलिया में मौजूदा लॉकडाउन के कारण पुरस्कार समारोह का आयोजन वर्चुअल तरीके से किया जाएगा। पुरस्कार समारोह 20 अगस्त को होगा। यह उत्सव ऑस्ट्रेलिया में विक्टोरियन सरकार द्वारा प्रस्तुत किया जाता है। यह एक वार्षिक उत्सव है जो ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न में होता है।

फिल्म 'शेरनी', 'लूडो', 'सूरराई पोटरू' 'गॉड ऑन द बालकनी' को मिला शीर्ष नामांकन। 

सर्वश्रेष्ठ फिल्म की श्रेणी में मलयालम भाषा की ‘‘कायट्टम’’, हिंदी में ‘‘लूटकेस’’ और बंगाली फिल्म ‘‘ताशेर घावर’’ शामिल हैं। फिल्म निर्माता अजीतपाल सिंह की ‘‘फायर इन द माउंटेन्स’’ को सर्वश्रेष्ठ ‘इंडी फिल्म’ की श्रेणी में नामांकित किया गया है। इस फिल्म को हाल ही में सनडांस फिल्म फेस्टीवल 2021 में दिखाया गया था।