ऑस्ट्रेलिया के ‘कलकत्ता क्लब’ में अब नहीं मिलेगा लजीज बंगाली भोजन, बंद होगा

कलकत्ता क्लब के मालिक ब्रतदेव चटर्जी 1997 में भारत के पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता से एक छात्र के रूप में ऑस्ट्रेलिया आए थे।

ऑस्ट्रेलिया के ‘कलकत्ता क्लब’ में अब नहीं मिलेगा लजीज बंगाली भोजन, बंद होगा

ऑस्ट्रेलिया के मेलबर्न में बंगाली खाने के शौकीनों के लिए यह एक बहुत बड़ा झटके जैसा है। ऑस्ट्रेलिया के विलियम्स टाउन में बंगाली भोजन के लिए प्रतिष्ठित रेस्तरां ‘कलकत्ता क्लब’ को बंद करने का फैसला किया गया है। फेसबुक पर इसकी घोषणा जब हुई तो लजीज बंगाली भोजन के शौकीन सन्न रह गए। हालांकि इसकी कोई खास वजह नहीं बताई गई है। क्लब की तरफ से कहा गया है कि कई वजहों से रेस्तरां को आगे चलाने का अब कोई इरादा नहीं है।

चटर्जी के मुताबिक कोरोना महामारी और लंबे समय तक चले लॉकडाउन ने हमारे कारोबार को बहुत बड़ा झटका दिया है।

कलकत्ता क्लब के मालिक ब्रतदेव चटर्जी ने कहा, मैं जानता हूं कि हमारी घोषणा से बहुत से लोग निराश हुए हैं, लेकिन मेरे पास वास्तव में कोई विकल्प नहीं था। उन्होंने कहा कि हमारे द्वारा परोसे जाने वाले लजील भोजन की गुणवत्ता के कारण कलकत्ता क्लब ने ग्राहकों के दिलों में अपनी मजबूत जगह बनाई। इतने वर्षों से हमारे पास एक लाजवाब और गुणी रसोईया था, लेकिन अब वह छोड़कर जा रहा है। चटर्जी के मुताबिक इसके साथ ही कोरोना महामारी और लंबे समय तक चले लॉकडाउन ने हमारे कारोबार को बहुत बड़ा झटका दिया है। हमने इसे संभालने की बहुत कोशिश की, लेकिन यह हम पर बहुत भारी पड़ रहा था। आखिरकार भारी मन से हमें कलकत्ता क्लब को बंद करने का फैसला लेना पड़ा।