आखिर इनका नाम ‘कोविड’ क्यों रखा गया, जानकर हतप्रभ रह जाएंगे!

इंदौर की रहने वाली 28 साल की कोविड जैन की जब पिछले महीने दिसंबर में शादी हो रही थी तो उनके दोस्त कहते थे कि कोविड, कोविड के दौर में शादी कर रही है। और इस पर हम सब मिलकर हंसते थे।

आखिर इनका नाम ‘कोविड’ क्यों रखा गया, जानकर हतप्रभ रह जाएंगे!

अक्सर कहा जाता है कि नाम में क्या रखा है? लेकिन नाम में बहुत कुछ रखा है। सोचिए, इस महामारी के समय में अगर किसी का नाम कोविड है तो? सुनकर ही कितना अजीब लग रहा है न! भला किसका नाम कोविड होता है? लेकिन ये सच है। भारत के बेंगलुरु शहर में रहने वाले एक युवा उद्यमी का नाम कोविड कपूर है। वह अपना परिचय देते हुए कहते हैं कि मेरा नाम कोविड है और मैं कोई वायरस नहीं हूं।

वर्ष 2019 में जब पहली बार वायरस का प्रकोप सामने आया तो उसके बाद यह पूरी दुनिया में तेजी से फैल गया। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इस महामारी का नाम कोविड-19 रखने की घोषणा की। इसके बाद साल 2020 के फरवरी महीने में कोविड कपूर ने ट्वीट कर बताया कि ‘मेरा नाम कोविड है और मैं कोई वायरस नहीं हूं।’ पिछले करीब 2 साल से इस महामारी ने दुनिया में हाहाकार मचा रखा है। कोविड कपूर का कहना है कि लोग उनके नाम को सुनकर उनका मजाक उड़ाते हैं। सोशल मीडिया पर मजे लेते हैं। लेकिन अब उन्हें इसकी आदत होने लगी है।