'इंडिया आउट' कैंपेन के खिलाफ मालदीव सरकार सख्त, आ रहा है कानून

इस विधेयक को 'मालदीव द्वारा अन्य देशों के साथ स्थापित संबंधों को नकारात्मक रूप से प्रभावित करने वाले सभी कार्यों को रोकने वाला विधेयक' के रूप में नामित किया गया है। इस विधेयक में 20,000 मालदीव रुफियान का जुर्माना और छह महीने की कैद या एक साल की नजरबंदी का प्रस्ताव किया गया है।

'इंडिया आउट' कैंपेन के खिलाफ मालदीव सरकार सख्त, आ रहा है कानून

भारत के साथ मित्रता को बनाए रखने के लिए भारत के पड़ोसी देश मालदीव की सरकार एक ऐसा कानून लाने पर विचार कर रही है जो पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल्ला यामीन द्वारा शुरू किए गए 'इंडिया आउट' अभियान को अपराध घोषित करेगा। मालदीव के अधिकारियों का मानना है कि यह अभियान राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा पैदा कर सकता है और मालदीव राष्ट्र में रहने वाले भारतीयों और भारत में रहने वाले मालदीव के जीवन को खतरे में डाल सकता है।

मालदीव में लगभग 29,000 भारतीय रहते हैं जबकि भारत में 5,000 मालदीव के नागरिक बसे हुए हैं। साल 2019 में पूर्व राष्ट्र​पति अब्दुल्ला यामीन को मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप में पांच साल साल की सजा सुनाई गई थी। यामीन ने एक प्राइवेट कंपनी से 1 मिलियन डॉलर यानी 7 करोड़ 50 लाख रुपये लिए थे जो कथित तौर पर सरकार के लिए बनाई गई एक निजी कंपनी थी। दिसंबर 2021 में मालदीव के सुप्रीम कोर्ट ने सजा को पलट दिया और यामीन को रिहा कर दिया। जिसके बाद 'इंडिया आउट' अभियान को मालदीव में रफ्तार मिली। यामीन जब तक सत्ता में थे उन्होंने चीन को प्राथमिकता दी और भारत के खिलाफ जहर उगला।