सिंगापुर ड्रग्स केस में एक और भारतीय मूल के नागरिक को फांसी

इस मामले में चीनी मूल के सिंगापुर के नागरिक 61 साल के पुंग अह कियांग को उम्रकैद की सजा सुनाई गई है। कियांग ने तस्करी करने के लिए हेरोइन का थैला किशोर कुमार से हासिल किया था।

सिंगापुर ड्रग्स केस में एक और भारतीय मूल के नागरिक को फांसी

ड्रग्स तस्करी के एक मामले में भारतीय मूल के एक मलेशियाई नागरिक को सिंगापुर में मौत की सजा सुनाई गई है। वहीं, इसी मामले में चीनी नागरिक को उम्रकैद की सजा दी गई है। 41 साल के भारतीय मूल के किशोर कुमार रागुन पर आरोप है कि साल 2018 वह सिंगापुर में अपनी मोटरसाइकिल से ड्रग्स की सप्लाई करते हुए पकड़ा गया था। पुलिस के मुताबिक उसके बैग से 900 ग्राम से अधिक पाउडर जैसा पदार्थ मिला था। बाद में उस पाउडर की जांच में उसमें करीब 36 ग्राम हेरोइन मिलने का दावा किया गया। सिंगापुर के मादक पदार्थ नियंत्रण कानून के तहत तस्करी से प्राप्त हेरोइन की मात्रा 15 ग्राम से अधिक होने पर मृत्युदंड का प्रावधान है।

इस मामले में चीनी मूल के सिंगापुर के नागरिक 61 साल के पुंग अह कियांग को उम्रकैद की सजा सुनाई गई है। कियांग ने तस्करी करने के लिए हेरोइन का थैला किशोर कुमार से हासिल किया था। अखबार स्ट्रैट्स टाइम्स की खबर के मुताबिक शुक्रवार को सिंगापुर हाई कोर्ट के जज एंड्री लिम ने कहा कि उन्होंने पाया कि किशोर और कियांग जानते थे कि बैग में हेरोइन है। इस दौरान किशोर ने अपने