देश की हवाई कंपनियों से परेशान हैं भारतीय, किससे सबसे ज्यादा नाराज हैं?

उड़ान में देरी, खराब इन-फ्लाइट सेवा, खराब बोर्डिंग प्रक्रिया और विमान के खराब इंटीरियर को लेकर सर्वे में उत्तरदाताओं ने सभी एयरलाइनों के खिलाफ शिकायत की हैं। LocalCircles द्वारा किए गए सर्वे में 15,000 एयरलाइन यात्रियों ने अपना पक्ष रखा।

देश की हवाई कंपनियों से परेशान हैं भारतीय, किससे सबसे ज्यादा नाराज हैं?
Photo by Anna Gru / Unsplash

भारत में एयरलाइंस कर्मचारियों का व्यवहार कोरोना काल के बाद से तेजी से बिगड़ा है। घरेलू उड़ानों से सफर करने वाले यात्रियों का कहना है कि वे एयरलाइन कर्मचारियों के व्यवहार से नाखुश हैं। ऐसा हाल ही में किए गए एक सर्वे में सामने आया है। LocalCircles द्वारा किए गए सर्वे में 15,000 एयरलाइन यात्रियों ने अपना पक्ष रखा। इनमें से 79 फीसदी का मानना ​​​​है कि भारत में यात्रियों की सुविधा से समझौता किया जा रहा है।

An aeroplane in the apron.
इंडिगो ने कहा कि वह ग्राहकों को एक संपर्क रहित यात्रा अनुभव देने के लिए डिजिटलीकरण पर भी ध्यान केंद्रित कर रहा है। Photo by Praveen Thirumurugan / Unsplash

सर्वे में उत्तरदाताओं ने असंतोषजनक सेवाओं के लिए सूची में सबसे उपर स्पाइसजेट लिमिटेड को रखा है। इसके बाद देश के एयरलाइन बाजार में 55 फीसदी हिस्सेदारी रखने वाली इंडिगो का नाम है। हालांकि उड़ान में देरी, खराब इन-फ्लाइट सेवा, खराब बोर्डिंग प्रक्रिया और विमान के खराब इंटीरियर को लेकर उत्तरदाताओं ने सभी एयरलाइनों के खिलाफ शिकायत की हैं।

इस रिपोर्ट के सामने आने के बाद स्पाइसजेट ने कहा कि वह ग्राहकों के अनुभव को बेहतर बनाने के लिए स्वचालन, प्रौद्योगिकी और स्थिरता को प्राथमिकता दे रही है। इंडिगो ने कहा कि वह ग्राहकों को एक संपर्क रहित यात्रा अनुभव देने के लिए डिजिटलीकरण पर भी ध्यान केंद्रित कर रहा है ताकि चेक-इन से लेकर बोर्डिंग और उससे आगे तक तकनीक का उपयोग करने से हवाई अड्डों पर प्रतीक्षा समय को कम किया जा सके।

बता दें कि हाल ही में एक हाई-प्रोफाइल घटना सामने आई थी जिसमें इंडिगो ने एक विकलांग किशोर को उड़ान में चढ़ने से रोक दिया था। इंडिगो ने अपना पक्ष रखते हुए कहा था कि लड़का अशांति पैदा कर रहा था और सुरक्षा के लिए खतरा पैदा कर सकता था। हालांकि विमानन नियामक ने इस मामले की प्रारंभिक जांच शुरू की थी जिसमें पाया गया कि इंडिगो नियमों के अनुरूप नहीं है और उसके कर्मचारियों ने यात्री को गलत तरीके से पकड़ा था। अभी इस मामले की जांच जारी है।

इसके अलावा एक अन्य मामले में एक वीडियो वायरल हुआ था। वायरल वीडियो में एक महिला को पैनिक अटैक का शिकार होते हुए देखा जा सकता है क्योंकि एयर इंडिया लिमिटेड ने उसे यह कहते हुए बोर्डिंग से रोका कि वह गेट बंद होने के बाद वह आई थी।