मेलबर्न फिल्म फेस्टिवल में दो लड़कियों की 'अनोखी' प्रेम कहानी'शीर कोरमा'

फिल्म 'शीर कोरमा' दो मुस्लिम महिलाओं की प्रेम कहानी है जो कनाडा में रहती हैं।

मेलबर्न फिल्म फेस्टिवल में दो लड़कियों की 'अनोखी' प्रेम कहानी'शीर कोरमा'

दुनिया भर के विभिन्न फिल्म समारोहों में प्रदर्शित होने के बाद भारतीय फिल्म 'शीर कोरमा' इंडियन फिल्म फेस्टिवल मेलबर्न में प्रदर्शन के लिए पूरी तरह तैयार है। फिल्म दो मुस्लिम महिलाओं की प्रेम कहानी है जो कनाडा में रहती हैं। फिल्म में स्वरा भास्कर एक पाकिस्तानी कनाडाई की भूमिका में हैं जबकि दिव्या दत्ता भारतीय मूल की हैं। यह एक प्यारी कहानी है जो कई मुद्दों को छूती है और इसमें बहुत सारी संस्कृति और भावनाएं भी शामिल हैं।

फिल्म 'शीर कोरमा' में दो लड़कियों के अंतरंग प्रेम को प्रदर्शित किया है।

शबाना आजमी, स्वरा भास्कर और दिव्या दत्ता अभिनीत फिल्म प्यार और स्वीकृति की कहानी है। इस फिल्म के साथ ही दिव्या दत्ता, शबाना आजमी और स्वरा भास्कर पहली बार काम करेंगे। शीर कोरमा का निर्देशन फराज आरिफ अंसारी ने किया है और इसे लिखा भी उन्होंने ही है। फराज अंसारी के 'शीर कोरमा' को कई देशों में कई एलजीबीटीक्यू समारोहों में प्रदर्शित किया गया है और अपनी शक्तिशाली कथा के लिए सकारात्मक प्रतिक्रिया प्राप्त कर रही है।

फिल्म की कहानी की बात करें तो शीर कोरमा कहानी है दो लड़कियों सायरा और सितारा (दिव्या दत्ता और स्वरा भास्कर) की, जो एक दूसरे से प्यार करती हैं और रिश्ते में हैं। सायरा की मां (शबाना आजमी) उसके रिश्ते को गुनाह मानती हैं और इसे अपनाने में कोई दिलचस्पी नहीं दिखा रहीं। वहीं सायरा का भाई और भाभी उनके साथ खड़े हैं।