विदेश में होनहार भारतीय बच्चे देंगे NEET परीक्षा, 12 देशों में बनाए गए केंद्र

NEET अंडर ग्रेजुएट परीक्षा की तारीख भी घोषित कर दी गई है जो कि 17 जुलाई को होनी है। परीक्षा के लिए भारत में हजारों सेंटर बनाए गए हैं जबकि भारत से बाहर 14 सेंटर में व्यवस्था की गई है। जिन देशों में परीक्षा की व्यवस्था की गई है, वहां बड़ी संख्या में भारतीय बसे हुए हैं।

विदेश में होनहार भारतीय बच्चे देंगे NEET परीक्षा, 12 देशों में बनाए गए केंद्र
प्रतीकात्मक फोटो 

भारत के प्रतिष्ठित सरकारी कॉलेजों से मेडिकल की पढ़ाई के लिए आयोजित होने वाली प्रतियोगिता परीक्षा NEET के आवेदन की प्रक्रिया शुरू हो गई है। इस परीक्षा में भारत से बाहर रहे रहे भारतीय स्टूडेंट्स भी भाग लेते हैं, इसलिए भारत के बाहर 12 देशों में भी 14 परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं जिसकी घोषणा राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (NTA) ने की है।

सत्र 2022 के लिए आयोजित होने वाली अंडर-ग्रैजुएट परीक्षा के लिए आवेदन NAT या NEET की वेबसाइट पर जाकर किया जा सकता है। आवेदन के लिए पोर्टल 6 अप्रैल से खोल दिए गए हैं जबकि अगले 30 दिन तक यानी 6 मई तक फॉर्म भरे जा सकेंगे।

फॉर्म में गलती पर सुधार का मिलेगा मौका

आवेदन के दौरान अगर किसी अभ्यर्थी से गलती हो जाती है तो उन्हें सुधार का मौका भी दिया जाएगा लेकिन सुधार के लिए उन्हें एक निश्चित फीस देनी पड़ेगी जो सभी श्रेणियों के लिए अलग-अलग तय की गई है। सामान्य श्रेणी के अभ्यर्थियों को 1600 रुपये, ईडब्ल्यूएस श्रेणी के सामान्य बच्चों और ओबीसी के लिए 1500 और एससी, एसटी, दिव्यांगों और थर्ड जेंडर के लिए यह राशि 900 रुपये तय की गई है। वहीं, भारत से बाहर रहने वाले अभ्यर्थियों के लिए सुधार फीस 8500 रुपये है।  

NEET परीक्षा इस साल 17 जुलाई को आयोजित की जाएगी

भारत से बाहर इन देशों में होगी परीक्षा

NEET अंडर ग्रेजुएट परीक्षा की तारीख भी घोषित कर दी गई है जो कि 17 जुलाई को होनी है। परीक्षा के लिए भारत में हजारों सेंटर बनाए गए हैं जबकि भारत से बाहर 14 सेंटर में व्यवस्था की गई है ताकि विदेश में बसे भारतीयों के बच्चे इस महत्वपूर्ण परीक्षा से वंचित न रह जाएं। जिन 14 शहरों में परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं वे हैं अबु धाबी (यूएई), बैंकॉक (थाइलैंड), कोलंबो (श्रीलंका), दोहा (कतर), दुबई (यूएई), काठमांडू (नेपाल), कुआलालंपुर (मलेशिया), कुवैत सिटी (कुवैत), लागोस (नाइजीरिया), मनामा (बहरीन), मस्कट (ओमान), रियाद (सऊदी अरब), शारजाह (यूएई) और सिंगापुर (सिंगापुर)। इन देशों में भारतीय बड़ी संख्या में बसे हुए हैं।

उल्लेखनीय है कि NEET की परीक्षा में भारतीय नागरिकों के अलावा एनआरआई, ओवरसीज सिटीजन ऑफ इंडिया, पर्सन ऑफ इंडियन ओरिजिन और विदेशी नागरिक भी बैठ सकते हैं।