नारी शक्ति का कमाल, बिजनेस खोलने में पुरुषों से कहीं आगे भारतीय महिलाएं

रिपोर्ट बताती है कि भारत में सीनियर लेवल पर महिला लीडर्स का प्रतिनिधित्व 29 फीसदी से घटकर मैनेजर लेवल पर 18 फीसदी हो गया है। हालांकि नए डेटा से यह भी पता चलता है कि लीडरशिप भूमिकाओं में महिलाओं की भर्तियां आठ साल पहले की तुलना में अब ज्यादा होने लगी हैं।

नारी शक्ति का कमाल, बिजनेस खोलने में पुरुषों से कहीं आगे भारतीय महिलाएं
Photo by LinkedIn Sales Solutions / Unsplash

अपना नया कारोबार शुरू करने के मामलों में भारतीय महिलाएं अब पुरुषों से भी आगे निकल गई हैं। विश्व आर्थिक मंच की वैश्विक स्त्री-पुरुष असमानता रिपोर्ट-2022 में लिंक्डइन डाटा के आधार पर बताया गया है कि 2016 से 2021 के बीच अपना बिजनेस खोलने वाली महिलाओं की संख्या में 2।68 गुना का इजाफा हुआ जबकि नए पुरुष कारोबारियों की संख्या 1।79 गुना ही बढ़ी। रिपोर्ट के मुताबिक, महिला उद्यमशीलता की वृद्धि दर 2020 और 2021 में सबसे ज्यादा रही। 

Woman at desk working in office
महिलाओं को समान पदों पर बैठे पुरुषों की तरह पदोन्नति नहीं मिलती। Photo by LinkedIn Sales Solutions / Unsplash

रिपोर्ट में कहा गया है कि कंपनियों में लीडरशिप भूमिकाओं में महिलाओं का प्रतिनिधित्व 18 प्रतिशत है, जो अब भी कम है। महिलाओं को समान पदों पर बैठे पुरुषों की तरह पदोन्नति नहीं मिलती। महिलाओं की तुलना में पुरुषों के लीडरशिप पद पर प्रमोशन की संभावना 42 फीसदी तक अधिक होती है।