श्रीलंका फिर शुरू करेगा भारत के लिए उड़ानें, पर्यटकों को ऐसे लुभाएगा

इस साल मई में भारत से 5562 यात्री श्रीलंका पहुंचे थे। द्वीपीय देश में इस महीने में किसी एक देश से आए पर्यटकों की यह सबसे अधिक संख्या रही। भारत के बाद ब्रिटेन से लगभग 3723 सैलानी श्रीलंका पहुंचे थे। हालांकि श्रीलंका में आर्थिक व राजनैतिक संकट के चलते पर्यटकों का आगमन बहुत कम हो गया था।

श्रीलंका फिर शुरू करेगा भारत के लिए उड़ानें, पर्यटकों को ऐसे लुभाएगा
Photo by Tharaka Jayasuriya / Unsplash

श्रीलंका के प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे ने घोषणा की है कि जाफना से भारत के लिए उड़ानों का संचालन जल्द ही फिर से शुरू किया जाएगा। उन्होंने पर्यटन अधिकारियों से कहा है कि भारतीय पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए योजनाएं तैयार करें। श्रीलंका टूरिज्म डेवलपमेंट अथॉरिटी का कहना है कि हमने बाकी बचे साल में आठ लाख पर्यटकों को आकर्षित करने की योजना बनाई है।

मई के महीने में श्रीलंका आने वाले अंतरराष्ट्रीय पर्यटकों की कुल संख्या में अप्रैल की तुलना में करीब 52 और मार्च की तुलना में 72 फीसदी की कमी दर्ज की गई है। Photo by Pasha Chusovitin / Unsplash

विक्रमसिंघे ने यात्रा की सुविधा के लिए जाफना के पलाली एयरपोर्ट से भारतीय शहरों के लिए उड़ानों को फिर से शुरू करने का निर्देश दिया है। देश के मंत्रिमंडल ने उद्योग जगत के साथ हुई एक बैठक के दौरान इस मुद्दे पर चर्चा की थी जिसके आधार पर सरकार ने यह निर्णय लिया है।

उल्लेखनीय है कि इस साल मई में भारत से 5562 यात्री श्रीलंका पहुंचे थे। द्वीपीय देश में इस महीने में किसी एक देश से आए पर्यटकों की यह सबसे अधिक संख्या रही। भारत के बाद ब्रिटेन से लगभग 3723 सैलानी श्रीलंका पहुंचे थे। हालांकि मई के महीने में श्रीलंका आने वाले अंतरराष्ट्रीय पर्यटकों की कुल संख्या में अप्रैल की तुलना में करीब 52 और मार्च की तुलना में 72 फीसदी की कमी दर्ज की गई है।

अंतरराष्ट्रीय पर्यटकों की संख्या में इतनी बड़ी कमी आने का कारण देश की वर्तमान आर्थिक और राजनीतिक स्थिति है। बता दें कि श्रीलंका अपने इतिहास के सबसे गंभीर आर्थिक संकट का सामना कर रहा है और यहां महंगाई चरम पर है। इसके अलावा राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे के विरोध में विरोध-प्रदर्शनों का दौर भी यहां जारी है। अब नए प्रधानमंत्री विक्रमसिंघे देश को इस संकट से निकालने की कोशिश में हैं।