न्यूयॉर्क में दिखी राजस्थानी संस्कृति, वाणिज्य दूतावास में विशेष आयोजन

साल 2021 से वाणिज्य दूतावास ने गुजराती और तमिल भाषाओं के लिए समान समारोह आयोजित किए हैं। एक भारत श्रेष्ठ भारत के तहत आने वाले महीनों में भारत की विभिन्न अन्य भाषाओं और संस्कृतियों के ऐसे कई समारोह आयोजित करने की योजना है।

न्यूयॉर्क में दिखी राजस्थानी संस्कृति,  वाणिज्य दूतावास में विशेष आयोजन

न्यूयॉर्क में भारतीय वाणिज्य दूतावास ने राजस्थान की भाषा और संस्कृति का जश्न मनाने के लिए एक कार्यक्रम की मेजबानी की। यह कार्यक्रम आजादी का अमृत महोत्सव समारोह के हिस्से के रूप में जयपुर फुट यूएसए के साथ संयुक्त रूप से आयोजित किया गया था। इस कार्यक्रम का नाम 'राजस्थानी भाषा और संस्कृति' था, जिसे एक भारत श्रेष्ठ भारत की भावना से मनाया गया। यह कार्यक्रम भारतीय भाषाओं और संस्कृतियों पर जारी एक ​सीरिज का हिस्सा है।

कार्यक्रम में डायस्पोरा के सदस्यों ने राजस्थानी में कविताओं का पाठ किया और गीत गाए। 

यह कार्यक्रम पिछले दिनों आयोजित हुआ। इसकी शुरुआत बॉलीवुड की प्रसिद्ध गायिका रहीं भारत रत्न लता मंगेशकर द्वारा गाए गए एक राजस्थानी गीत के वीडियो से हुई। महावाणिज्य दूत रणधीर जायसवाल ने अंतरराष्ट्रीय मातृभाषा दिवस के अवसर पर उपस्थित लोगों का स्वागत किया और शुभकामनाएं दीं। इस अवसर पर जयपुर फुट यूएसए से प्रेम भंडारी ने राजस्थानी भाषा और संस्कृति की समृद्धि का स्मरण किया। महावाणिज्य दूत रणधीर जायसवाल ने कार्यक्रम में बताया कि बांग्लादेश ने अंतरराष्ट्रीय मातृभाषा दिवस मनाने की पहल शुरू की थी। इसे 1999 के यूनेस्को आम सम्मेलन में अनुमोदित किया गया था और 21 फरवरी 2000 से दुनिया भर में मनाया जा रहा है। उन्होंने रेखांकित किया कि भारत के लोग अपनी मातृभाषा के बावजूद किसी न किसी तरह से विविध और समृद्ध भाषाओं से जुड़े हुए हैं।