पीएम मोदी का नया नारा... सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास और सबका प्रयास

भारत की आजादी की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर लाल किला की प्राचीर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को संबोधित करते हुए कि 21वीं सदी में भारत के सपनों और आकांक्षाओं को पूरा करने से कोई भी बाधा रोक नहीं सकती।

पीएम मोदी का नया नारा... सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास और सबका प्रयास

भारत आज 15 अगस्त को 75वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। इस ऐतिहासिक मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले की प्राचीर से एक बेहद खास नारा दिया- सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास और सबका प्रयास। पीएम मोदी पिछले कई सालों से लगातार सबका साथ और सबका विकास की बात करते आ रहे हैं, लेकिन आज उन्होंने देश की विकास यात्रा में आम जनता को भागीदार बनाने के लिए दो और चीज़ें जोड़ दीं। वो हैं- सबका विश्वास और सबका प्रयास।

लाल किला की प्राचीर से पीएम मोदी ने जब संबोधन किया, उस वक्त पहली बार हेलीकॉप्टर से पुष्पवर्षा की गई। 

प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन के दौरान सबसे पहले देश की आजादी में योगदान देने वाले महापुरुषों को याद किया और उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की । उन्होंने कहा कि आज देश उन्हें याद कर रहा है। देश इन सभी महापुरुषों का ऋणी है। पीएम मोदी ने कोरोना महामारी के दौरान जान गंवाने वाले लोगों को श्रद्धांजलि दी।

हमेशा की तरह देश को विकास के रास्तों पर ले जाने की बात करने वाले पीएम मोदी ने एक बार फिर से कहा कि 21वीं सदी में भारत के सपनों और आकांक्षाओं को पूरा करने से कोई भी बाधा रोक नहीं सकती।

लाल किला से पीएम मोदी देशवासियों के लिए नई प्रेरणाएं प्रस्तुत करते रहे हैं। आज उन्होंने नया नारा दिया। 

उन्होंने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक और एयरस्ट्राइक कर हमने अपने दुश्मनों को नए भारत के उदय का संदेश दिया है। इससे यह भी पता चलता है कि भारत कड़े फैसले ले सकता है। पीएम मोदी ने अपने भाषण में कहा, ‘आज लाल किले से मैं आह्वान कर रहा हूं- सबका साथ-सबका विकास-सबका विश्वास और सबका प्रयास हमारे हर लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। इसी श्रद्धा के साथ हम सब जुटे हुए हैं।’