भारत के उठाए कदम सराहनीय, लेकिन निवेश अभी भी चुनौती भरा: अमेरिका

मार्च 2021 में, संसद ने भारत के बीमा क्षेत्र को और अधिक उदार बनाया था, जिसमें एफडीआई को 49 फीसदी से बढ़ाकर 74 फीसदी किया गया।

भारत के उठाए कदम सराहनीय, लेकिन निवेश अभी भी चुनौती भरा: अमेरिका
Photo by Dominik Lückmann / Unsplash

कोरोना महामारी के प्रकोप के बीच भारत सरकार द्वारा अर्थव्यवस्था को सुधारने के लगातार प्रयासों की अमेरिका ने सराहना की है। इसके बावजूद उसने अभी भी  भारत को व्यापार करने के लिहाज से चुनौतीपूर्ण बताया है। अमेरिकी प्रशासन ने भारत सरकार को कई सुझाव भी दिए हैं, जिनमें निवेश में बाधाओं को कम करना और नौकरशाही दखलंदाजी पर लगाम लगाना भी शामिल है।। ऐसा करने से आकर्षक और विश्वसनीय निवेश का माहौल बढ़ेगा, जिससे कारोबारी व निवेशकों को आकर्षित करने में मदद मिलेगी।

अमेरिकी प्रशासन द्वारा जारी की गई रिपोर्ट 'इन्वेस्टमेंट क्लाइमेट 2021' में भारत सरकार की प्रशंसा करते हुए कहा गया है कि भारत की सरकार लगातार विदेशी निवेश पर नजर बनाए हुए है। कोरोना महामारी के बावजूद भारत सरकार ने कई आर्थिक सुधारों को लागू किया जिनमें नए श्रमिक कोड और कृषि क्षेत्र के सुधार भी शामिल हैं। इसका फायदा भारत को फॉरेन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट यानी विदेशी प्रत्यक्ष निवेश (एफडीआई) को आकर्षित करने में मदद मिलेगी।

Streets of Old City
भारत सरकार के प्रयासों से अप्रैल 2020 और मार्च 2021 के बीच जीडीपी को 8 फीसदी तक उभारने में मदद मिली थी। Photo by Tejj / Unsplash