कुवैत सख्त: नुपुर शर्मा के विरोध में प्रदर्शन करने वाले प्रवासियों की होगी वापसी

कुवैत अधिकारियों ने निर्देश में कहा है कि कुवैत में सभी प्रवासियों को कुवैत के कानूनों का सम्मान करना चाहिए और किसी भी प्रकार के प्रदर्शनों में भाग नहीं लेना चाहिए। रिपोर्ट के अनुसार इन प्रदर्शनकारियों पर कुवैत प्रशासन प्रतिबंध भी लगाएगा ताकि ये भविष्य में भी कुवैत वापस न आ पाएं।

कुवैत सख्त: नुपुर शर्मा के विरोध में प्रदर्शन करने वाले प्रवासियों की होगी वापसी

भारत के राजनैतिक दल भारतीय जनता पार्टी की नेता  नुपुर शर्मा के कथित तौर पर पैगंबर मोहम्मद को लेकर की गई टिप्पणी के विरोध में शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद कुवैत में प्रवासियों ने प्रदर्शन किया। कुवैत ने इस मसले पर सख्त रवैया अपनाते हुए कहा है कि वह उन प्रवासियों को वापस उनके देश निर्वासित करेगा, जिन्होंने प्रदर्शन में भाग लिया था। यह फैसला इसलिए लिया गया है क्योंकि प्रदर्शनकारियों ने कुवैत में प्रवासियों के धरने या प्रदर्शन पर रोक लगाने वाले देश के कानूनों और नियमों का उल्लंघन किया।

अरब टाइम्स के हवाले से रिपोर्ट में कहा गया है कि अधिकारियों ने प्रक्रिया शुरू कर दी है। प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार करने के बाद उन्हें उनके देशों में वापस निर्वासित करने के लिए निर्वासन केंद्र में उनके नाम भेजे जा रहे हैं। इन पर कुवैत प्रशासन प्रतिबंध भी लगाएगा ताकि ये भविष्य में भी कुवैत वापस न आ पाएं।

The mechanic shop
इन पर कुवैत प्रशासन प्रतिबंध भी लगाएगा ताकि ये भविष्य में भी कुवैत वापस न आ पाएं। Photo by Azhar Munir Din / Unsplash

अरब टाइम्स में छपि रिपोर्ट के अनुसार अधिकारियों ने निर्देश में कहा है कि कुवैत में सभी प्रवासियों को कुवैत के कानूनों का सम्मान करना चाहिए और किसी भी प्रकार के प्रदर्शनों में भाग नहीं लेना चाहिए। बता दें कि निलंबित भाजपा नेता नुपुर शर्मा की पैगंबर मुहम्मद पर टिप्पणी ने खाड़ी में बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन हुआ था। इस क्षेत्र में भारतीय दूतों को इस मुद्दे पर कड़ा विरोध दर्ज करने के लिए अरब देशों द्वारा बुलाया गया था।

वहीं कुवैत में भारतीय दूतावास के प्रवक्ता ने कहा कि भारत ने अशिष्ट तत्वों द्वारा की गई टिप्पणियों को खारिज कर दिया और कहा कि उसने अल्पसंख्यकों के खिलाफ ट्विटर पर विवादास्पद टिप्पणी करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की थी। भारतीय जनता पार्टी ने अपनी प्रवक्ता नुपुर शर्मा को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से निलंबित कर दिया है और अपने दिल्ली मीडिया प्रमुख नवीन कुमार जिंदल को उनकी भड़काऊ टिप्पणी के लिए निष्कासित कर दिया है।

राजदूत ने बताया कि ट्वीट किसी भी तरह से भारत सरकार के विचारों को नहीं दर्शाते हैं। ये तुच्छ तत्वों के विचार हैं। प्रवक्ता ने कहा कि हमारी सभ्यतागत विरासत और विविधता में एकता की मजबूत सांस्कृतिक परंपराओं के अनुरूप भारत सरकार सभी धर्मों को सर्वोच्च सम्मान देती है।