भारत को जानें: प्रवासियों की अपनी जड़ों से जुड़ने के लिए रोचक यात्रा

भारतवंशियों युवाओं के लिए बेहद रोचक कार्य़क्रम भारत सरकार चला रही है जिसे नो इंडिया प्रोग्राम (Know India programme) नाम दिया गया है। इसकी सबसे बड़ी खासियत यह है कि हवाई किराए का 90 प्रतिशत खर्च विदेश मंत्रालय वहन करता है।

भारत को जानें: प्रवासियों की अपनी जड़ों से जुड़ने के लिए रोचक यात्रा

भारतीय विदेश मंत्रालय प्रवासी भारतीयों को मातृभूमि से जोड़े रखने के लिए कई तरह के कार्यक्रम चला रहा है, उनमें एक कार्यक्रम युवाओं को भारत में अपनी जड़ों से जोड़ना औऱ समकालीन भारत के बारे में उनका ज्ञान बढ़ाना शामिल है। हालांकि इस कार्यक्रम में गिरमिटिया देशों के भारतवंशी युवाओं को वरीयता दी जाती है। अब तक विदेश मंत्रालय ने इसके 59 संस्करण का सफलतापूर्वक संचालन किया है, जिसमें 2301 भारतवंशी युवाओं को भारत आने और वहां की संस्कृति से जुड़ने का मौका मिला है।

मंत्रालय 18 से 30 वर्ष के भारतवंशी युवाओं के लिए 25 दिन का ओरिएंटेशन प्रोग्राम आयोजित करता है। 

भारत की रोचक यात्रा से ऐसे जुड़ते हैं युवा
मंत्रालय 18 से 30 वर्ष के भारतवंशी युवाओं के लिए 25 दिन का ओरिएंटेशन प्रोग्राम आयोजित करता है और इस कार्यक्रम में 2 राज्यों का दौरा भी शामिल किया जाता है। एक साल में 6 बार कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है। हर एक कार्यक्रम के लिए 40 भारतवंशियों का चुनाव होता है और उनकी भारत में शानदार मेजबानी की जाती है। विदेश मंत्रालय की वेबसाइट के अनुसार अंतरराष्ट्रीय यात्रा का 90 प्रतिशत किराया भारत सरकार देती है।