राहत: कनाडा के लिए अब मिडिल ईस्ट देशों में भी रुककर जा सकेंगे भारतीय

लंदन के रास्ते मुंबई-टोरंटो यात्रा का वापसी किराया 80,000 रुपये से 90,000 रुपये के बीच है। जबकि मिडिल ईस्ट के माध्यम से किराया तुलनात्मक तौर पर कम पड़ता है। एक राहत यह भी है कि ये देश यूरोप के देशों की तुलना में किफायती हैं। पर्यटक यहां हफ्ते भर का एक छोटा सा ट्रिप भी बना सकते हैं।

राहत: कनाडा के लिए अब मिडिल ईस्ट देशों में भी रुककर जा सकेंगे भारतीय
Photo by Guillaume Jaillet / Unsplash

जहां कनाडा पहुंचने के लिए भारतीय पर्यटकों और छात्रों को मैक्सिको, इजिप्ट, लंदन आदि देशों में रुककर जाना होता ​था,  अब ये लोग मिडिल ईस्ट देशों में ठहरकर भी कनाडा के लिए रवाना हो सकते हैं। सात सितंबर से भारतीय पर्यटक कनाडा पहुंचने से पहले तुर्की, दुबई और अबू धाबी में रुक सकते हैं और अपना आरटी-पीसीआर परीक्षण करवाकर कनाडा जा सकते हैं।

Camels in Wadi Rum
मिडिल ईस्ट देशों द्वारा ढील दिए जाने से एक राहत यह भी है कि ये देश युरोप के देशों की तुलना में किफायती हैं। पर्यटक यहां हफ्ते भर का एक छोटा सा ट्रिप भी बना सकते हैं। Photo by Sebastien / Unsplash

दरअसल, मिडिल ईस्ट के तुर्की, दुबई, अबू धामी जैसे लोकप्रिय देशों ने मानदंडों में ढील दी है जो  सात सितंबर से लागू हो रही है। जबकि पिछले कुछ महीनों से मिडिल ईस्ट हवाई अड्डे भारतीयों के लिए बंद थे। ऐसे में कनाडा की यात्रा करने वाले छात्रों और पर्यटकों के सामने एकमात्र विकल्प मिस्र और मैक्सिको जैसे देश थे, जहां वे पहले आरटी-पीसीआर परीक्षण करवाते थे और उसके बाद कनाडा पहुंचते थे। अब मिडिल ईस्ट देशों द्वारा ढील दिए जाने से एक राहत यह भी है कि ये देश यूरोप के देशों की तुलना में किफायती हैं। पर्यटक यहां हफ्ते भर का एक छोटा सा ट्रिप भी बना सकते हैं।